मंडी से टिकट के लिए लॉबिंग करने दिल्ली पहुंचीं प्रतिभा सिंह: विक्रमादित्य संग वरिष्ठ नेताओं से मिलीं

Ticker

6/recent/ticker-posts

मंडी से टिकट के लिए लॉबिंग करने दिल्ली पहुंचीं प्रतिभा सिंह: विक्रमादित्य संग वरिष्ठ नेताओं से मिलीं


नई दिल्ली/मंडी।
हिमाचल प्रदेश के 6 बार के सीएम रहे वीरभद्र सिंह के निधन के बाद सूबे और हिमाचल कांग्रेस के राजनीतिक अंदाज में काफी बड़ा बदलाव आया है। इसी कड़ी में राजा साहब के निधन के बाद पहली बार पूर्व सांसद प्रतिभा सिंह अपने बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह के साथ दिल्ली पहुंचीं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: सड़क से 250 मीटर नीचे मकान की छत पर गिरा मिट्टी भरा ट्रक, ड्राइवर की गई जान

प्रतिभा सिंह और विक्रमादित्य सिंह के इन दिल्ली दौरे को मंडी सीट पर होने वाले उपचुनाव की टिकट के लिए लॉबिंग के तौर पर देखा जा रहा है। एक तरफ जहां कांग्रेस के अलाकमान माने जाने वाले नेता राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा इन दिनों शिमला में मौजूद हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: 21 साल की विवाहिता दुपट्टे का फंदा लगाकर झूली- दो साल पहले ही हुआ था ब्याह

वहीं, हिमाचल कांग्रेस में बड़ा ओहदा रखने वाली यह मां-बेटे की जोड़ी दिल्ली में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर टिकट पर अपना दावा पक्का करने का प्रयास कर रही है। बीते कल जैसे ही प्रतिभा और विक्रमादित्य सिंह के दिल्ली में होने की बात सामने आई तो प्रदेश कांग्रेस नेताओं के बीच भी हलचल मच गई और चर्चाओं का दौर गरम रहा।

यह भी पढ़ें: हिमाचल के राशन कार्ड धारकों को तोहफा: अब डिपो पर सस्ती चाय भी बेचेगी सरकार- आधा किलो मिलेगा

इन दोनों ने पहले एआईसीसी के महासचिव संगठन केसी वेणुगोपाल से मुलाकात की। उसके बाद विक्रमादित्य सिंह ने राष्ट्रीय सचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला से मिले, ऐसे में प्रतिभा सिंह के आगामी उपचुनाव को लेकर मैदान में उतरने की संभावना भी बढ़ गई है।

सुखराम परिवार भी सक्रिय 

मंडी लोकसभा उपचुनाव को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम भी अपने पोते आश्रय शर्मा के लिए टिकट की पैरवी कर रहे हैं। बीते लोकसभा चुनाव में कांग्रेस आश्रय शर्मा को प्रत्याशी बना चुकी है लेकिन उन्हें चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था।

टिकट की कोई महत्वकांक्षा नहीं : विक्रमादित्य सिंह

वहीं विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि टिकट की कोई महत्वकांक्षा नहीं है और न ही इसके लिए कोई दावेदारी जताई गई है। टिकट के लिए अपलाई नहीं किया जाएगा। यदि हाईकमान कहेगा तो ही पूर्व सांसद प्रतिभा सिंह चुनाव मैदान में उतरेंगी।

Post a Comment

0 Comments