हिमाचल: सातवीं के बाद छोड़ दी थी पढ़ाई, अब कर रही है पीजी; शिक्षक ने बदला छात्रा का भविष्य

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: सातवीं के बाद छोड़ दी थी पढ़ाई, अब कर रही है पीजी; शिक्षक ने बदला छात्रा का भविष्य

शिमला: आज शिक्षक दिवस है। इस अवसर पर आज हम एक ऐसे शिक्षक की कहानी आपको बताने जा रहे हैं जिन्होंने न सिर्फ अपनों छात्रा को पढ़ाया बल्कि घर की माली हालत ठीक नहीं होने के कारण उच्च शिक्षा के मार्ग में भी बाधा नहीं आने दी।

छात्रा की पढाई का खर्चा वहन किया:

ये शिक्षक हैं शिमला जिला अंतर्गत हाई स्कूल सुरंगाणी में तैनात टीजीटी हिंग राज चिराग। इनके संज्ञान में आया कि उनके विद्यालय की एक छात्रा डोगरी देवी परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से पढाई छोड़ दी है। सातवीं के बाद आगे की पढ़ाई नहीं करेगी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल का किन्नर साथी संग करता था लूट: ग्राहक बनकर पहुंची पुलिस; ऐसे किया गिरफ्तार

आर्थिक बाधाओं से अवगत होने के बाद हिंग राज ने छात्रा डोगरी देवी को दुबारा विद्यालय में प्रवेश दिलाया। शिक्षा में होने वाली हर खर्च का वहन स्वयं किया। डोगरी देवी ने दसवीं और जमा दो कक्षा की मेरिट सूची में जगह बनाई। अब वही छात्रा  एचपीयू शिमला में अर्थशास्त्र में पोस्ट ग्रेजुएशन कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: नशा मुक्ति केंद्र में मर गया 29 साल का युवक- मौके पर पहुंची पुलिस, जांच शुरू

डोगरी देवी अब अर्थशास्त्र में स्नाकोत्तर के साथ-साथ एचएएस परीक्षा की भी तैयारी कर रही है। डोगरी के पिता दिहाड़ी लगाते थे। परिवार का पालन पोषण काफी मुश्किल होता था। ऐसे में टीजीटी शिक्षक हिंग राज चिराग उनके लिए फरिश्ता बनकर आए और हर कदम पर मदद की।

Post a Comment

0 Comments