हिमाचलः पंचायत के प्रधान-सचिव ने किया 40 लाख का घोटाला, रिश्तेदारों को कर रहे थे मालामाल

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचलः पंचायत के प्रधान-सचिव ने किया 40 लाख का घोटाला, रिश्तेदारों को कर रहे थे मालामाल

कुल्लू: हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले से घोटले की बड़ी खबर सामने आ रही है। मिली जानकारी के मुताबिक यहां विकास खंड निरमंड की पोशना पंचायत में 40 लाख रूपए का घोटाला हुआ है। 

रिश्तेदार को पहुंचा रहे थे लाभ:

बता दें कि पोशना पंचायत के पूर्व प्रधान व पंचायत सचिव पर 40 लाख रूपए की धांधली कर अपने रिश्तेदारों को लाभ पहुंचाने व संपन्न परिवार के लोगों को बीपीएल श्रेणी में डालने सहित एक दर्जन गड़बड़ियां करने का आरोप लगा है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में चोरों के हौसले बुलंद; एक ही पंचायत के चार घरों से लुटे लिए लाखों के गहने-नगदी

वहीं, मिली शिकायत के आधार आनी अदालत के सिविल जज ने पुलिस थाना ब्रौ को आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए हैं। 

गौरतलब है कि साल 2020 में पोशना पंचायत के स्थानीय निवासी गाजरू राम व वेद ठाकुर ने पंचायत में हुए विकास कार्यों पर सवाल उठाए थे। जिसकी शिकायत उन्होंने सिविल कोर्ट आनी में की थी।

ये है मामला:

शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि पंचायत प्रधान व सचिव ने 30 हजार और 20 हजार के जाली बिल तैयार करने, नागरिक आपूर्ति विभाग के बजाय अनाधिकृत व्यक्तियों से सीमेंट खरीदने, संकल्प और दस्तावेज पारित किए बिना अपने रिश्तेदारों को अतिरिक्त भुगतान करने, क्रेट वॉल के निर्माण में धन का दुरुपयोग करने, पानी के टैंक, गोशालाओं एवं शौचालयों के निर्माण में हेराफेरी करने, बीपीएल सूची में अमीर लोगों के नाम डालने, एक व्यक्ति के नाम एक ही तारीख में दो मस्टररोल बनाने व लेखा परीक्षा रिपोर्ट में लगभग 38.540 लाख की हेराफेरी की है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल के 52 और देश के 527 शहीदों का अपमान कर गई प्रतिभा सिंह, कहा: युद्ध लड़ना मामूली काम

इतना ही नही रंदल से पनाशी सड़क पर 5 लाख रूपए खर्च हुए हैं, इसमें भी आरोपितों द्वारा तीन लाख से अधिक रुपयों का गबन किया गया है। दस्तावेजों में पंचायत घर से श्मशान घाट और कैंची से खाटल तक पैदल रास्ता दो बार बना हुआ दिखाया, जबकि यह एक बार ही बना है।

जांच में जुटी पुलिस:

आरोपितों पर महिला मंडल भवन, युवा मंडल भवन बड़गई और सामुदायिक भवन रंदल के निर्माण में भी हेराफेरी के आरोप लगाए हैं।

इस मामले पर डीएसपी आनी रविंद्र नेगी ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर पंचायत प्रधान इंदिरा देवी और पंचायत सचिव जसवीर गुप्ता के खिलाफ पुलिस ताना में विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है। पुलिस द्वारा मामले की छानबीन की जा रही है।

Post a Comment

0 Comments