उपचुनाव: चेतन के चहेतों पर चला BJP का चाबुक, 13 पदाधिकारियों 6 साल के लिए आउट

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

उपचुनाव: चेतन के चहेतों पर चला BJP का चाबुक, 13 पदाधिकारियों 6 साल के लिए आउट


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में उपचुनाव का माहौल अपने चरम पर है। इन उपचुनावों में अपने राजनीतिक समीकरण के चलते हॉटसीट बनकर उभरी जुब्बल कोटखाई सीट पर बीजेपी से बगावत कर निर्दलीय उम्मीदवार चेतन बरागटा के पक्ष में प्रचार कर रहे पार्टी के पदाधिकारियों पर पार्टी का तगड़ा चाबुक चला है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में कोरोना: 13 वर्षीय बच्ची समेत 5 ने गंवाई जान- 200 से अधिक केस हुए रिपोर्ट

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने इसे अनुशासनहीनता मानते हुए मंडल अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और महामंत्री समेत 13 पदाधिकारियों को छह वर्षों के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। इसके साथ ही इनकी प्राथमिक सदस्यता को भी तुरन्त प्रभाव से रद्द कर दिया गया है। गौरतलब है कि इससे पहले टिकट ने मिलने के कारण निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनावी मैदान में उतरने वाले चेतन के खिलाफ भी ऐसा ही एक्शन पार्टी द्वारा लिया गया था। 

जानें किसे किसे किया गया पार्टी से आउट 

वहीं, अब 13 पदाधिकारियों को छह वर्षों के लिए पार्टी से निष्कासित करने संबंध में जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि जुब्बल-कोटखाई मंडल अध्यक्ष गोपाल जबैइक, मंडल महामंत्री सतीश, मंडल उपाध्यक्ष अशोक और रामप्रकाश, महासू जिला उपाध्यक्ष देविंदर, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य यशवीर और संदीप, विशेष आमंत्रित सदस्य रविन्द्र, जिलाध्यक्ष युवा मोर्चा महासू अंकुश चौहान, युवा मोर्चा जिला महामंत्री सुशील, मंडल कार्यकारिणी सदस्य चेतन, राजेश और अनिल को भाजपा से निष्कासित किया गया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल सीमा पर अल्टो कार खाई में गिरी, दम्पति सहित परिवार के छह सदस्यों का निधन

यह प्रेस विज्ञप्ति प्रदेश भाजपा के कार्यालय सचिव प्यार सिंह की ओर से जारी की गई है। गौरतलब है कि जुब्बल कोटखाई उपचुनाव में 70 हज़ार के करीब मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। ऐसे में 2 नवम्बर को ही यह स्पष्ट हो सकता है कि आखिरकार ऊंट किस करवट बैठेगा। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ