परिवारवाद की वजह से कटा चेतन बरागटा का टिकट, नीलम सरैइक पुरानी कार्यकर्ता: सुरेश भारद्वाज

Ticker

6/recent/ticker-posts

परिवारवाद की वजह से कटा चेतन बरागटा का टिकट, नीलम सरैइक पुरानी कार्यकर्ता: सुरेश भारद्वाज


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में उपचुनाव का बिगुल बज चुका है। इसी कड़ी में जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र का माहौल भी इन दिनों उपचुनाव की वजह से गरमाया हुआ है। दिवंगत विधायक नरेंद्र बरागटा के बेटे चेतन बरागटा को बीजेपी की तरफ से टिकट ना मिलने के कारण बीजेपी के वोटर काफी हद तक बंट गए हैं। 

नीलम को पार्टी विरोधी कार्यकर्त्ता बता रहे चेतन 

वहीं, चेतन की जगह नीलम सरैइक को टिकट मिलने के पीछे का कारण जयराम सरकार के मंत्री सुरेश भारद्वाज को माना जा रहा है। अब एक तरफ जहां खुद चेतन और उनके समर्थक भारद्वाज के खिलाफ लगातार हमलावर रुख अपनाए हुए हैं। वहीं, चेतन और उनके पक्ष के लोगों द्वारा नीलम सरैइक को पार्टी से बाहर की नेत्री करार दिया जा रहा है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: जिम से घर लौटा युवक और कमरे में रस्सी से झूल गया- पसरा मातम

इस सब के बीच अब इस मसले पर मंत्री सुरेश भारद्वाज का भी पहला बयान सामने आया है।  उन्होंने कहा कि परिवारवाद की वजह से चेतन बरागटा को बीजेपी का टिकट नहीं मिल सका है। देश भर में हुए उपचुनाव में बीजेपी ने परिवारवाद को तरजीह नहीं दी और अन्य सीटों पर भी टिकट काटे गए। इसी क्रम में जुब्बल कोटखाई में चेतन बरागटा को टिकट नहीं मिला।

कार्यकर्ताओं को आलाकमान का आदर करना चाहिए

भारद्वाज ने आगे कहा कि टिकट वितरण का फैसला बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व से आया है और इसका सभी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को आदर करना चाहिए। हमारे लिए पार्टी सर्वोपरी है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व ने जुब्बल कोटखाई से नीलम सरैइक को टिकट दिया है, जो पुरानी कार्यकर्ता है और जुब्बल कोटखाई के कार्यकर्ताओं को आलाकमान के निर्णय का आदर करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: जनसेवक की हादसे में गई जान, परिवार ने अंगदान की इच्छा पूरी कर कमाया पुण्य

सुरेश भारद्वाज ने कहा कि उम्मीदवार के रूप में चेतन बरागटा काफी आगे बढ़ गए थे। टिकट नहीं मिलने से उनकी भावनाएं निश्चित तौर पर आहत हुई है और इन्हें समेटने में समय लगता है। चेतन बरागटा के साथ संवाद चल रहा है और इस पूरे घटनाक्रम को लेकर वो ठंडे दिमाग से सोचेंगे तो वो पार्टी के साथ कदम से कदम मिलाकर चेलंगे। 

Post a Comment

0 Comments