CM जयराम ने चेतन बरागटा को लिया आड़े हाथों: जुब्बल कोटखाई में जमकर दहाड़े

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

CM जयराम ने चेतन बरागटा को लिया आड़े हाथों: जुब्बल कोटखाई में जमकर दहाड़े


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में उपचुनाव का माहौल अपने चरम पर है। इन उपचुनावों में अपने राजनीतिक समीकरण के चलते सबसे हॉटसीट बनकर उभरी जुब्बल कोटखाई सीट पर अब त्रिकोणीय मुकाबला हो रहा है। 

बीजेपी द्वारा नीलम सरैइक को टिकट दिए जाने के बाद से बागवत में उतरे दिवंगत भाजपा विधायक नरेंद्र बरागटा के बेटे चेतन बरागटा कांग्रेस के साथ साथ अपनी पूर्व पार्टी बीजेपी को भी टक्कर दे रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में कोरोना: आज भी 35 बच्चे मिले पॉजिटिव- स्कूलों में कोविड नियमों को लेकर सख्ती

वहीं, जहां उपचुनाव की तारीखों का ऐलान होने और टिकट के लिए उम्मीदवारों की घोषणा से पहले खुद सीएम जयराम ठाकुर द्वारा चेतन को बीजेपी का उम्मीदवार बता दिया गया था। 

अब वही सीएम चेतन के बागी होने के बाद उनपर निशाना साधते हुए नजर आ रहे हैं। बीते कल बीजेपी उम्मीदवार नीलम के पक्ष में चुनाव प्रचार करने पहुंचे सीएम जयराम ने भरे मंच से चेतन को अपने निशाने पर लिया। 

मुझे भरोसा है कि आप नीलम सरैइक को सहयोग देंगे

जयराम ठाकुर ने निर्दलीय चुनाव लड़ रहे दिवंगत भाजपा विधायक नरेंद्र बरागटा के बेटे चेतन बरागटा का नाम लिए बगैर कहा कि भावनाओं में न जाकर हकीकत देखनी चाहिए। 

उन्होंने कहा कि भाजपा ने सैद्धांतिक रूप से निर्णय लेने की शुरुआत की है। ये निर्णय सिर्फ जुब्बल कोटखाई के लिए नहीं हुआ। पूरे देश में जहां भी उपचुनाव हो रहे हैं, कहीं भी पूर्व जनप्रतिनिधि के पारिवारिक सदस्यों को टिकट नहीं दिया गया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: थ्रैशर में फंस गया 15 वर्षीय किशोर का कपड़ा, फिर खुद चपेट में आया- दुखद निधन

जयराम ठाकुर ने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने जो फैसला लिया था, मैं आश्वस्त था कि उस फैसले का सम्मान होगा। लेकिन फैसले का सम्मान नहीं किया गया, जिससे मैं व्यक्तिगत रूप से भी आहत हूं। 

उन्होंने कहा कि स्वर्गीय नरेंद्र बरागटा की भावनाएं भी आहत हुई होंगी क्योंकि उन्होंने हमेशा भारतीय जनता पार्टी का झंडा उठाया। जिन लोगों ने इस निर्णय को स्वीकार नहीं किया, उन्होंने अपना नुकसान किया है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल आए अनुराग ने दिया कांग्रेस को चैलेंज: महंगाई पर बात करनी है सीधी डिबेट करें

बीजेपी के पूर्व विधायक स्व। नरेंद्र बरागटा को याद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वो पार्टी के सीनियर नेता थे। जुब्बल कोटखाई और बागवानों के लिए हमेशा संघर्षरत रहते थे। 

जयराम ठाकुर ने चुनावी जनसभा में कहा कि मैंने जुब्बल कोटखाई को सहयोग देने में कोई कमी नहीं रखी। अब मुझे भरोसा है कि आप नीलम सरैइक को सहयोग देंगे। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ