हिमाचल में पांव पसार रहा डेंगू: 261 मरीज मिले; एक ही जिले में 194 मामले, यहां ख़तरा अधिक

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में पांव पसार रहा डेंगू: 261 मरीज मिले; एक ही जिले में 194 मामले, यहां ख़तरा अधिक


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश में डेंगू का प्रकोप बढ़ता नजर आ रहा है। प्रदेश में डेंगू से ग्रसित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इसके ज्यादातर मामले शहरी व अर्धशहरी इलाकों से सामने आ रहे हैं। अभी तक प्रदेश में कुल 261 डेंगू के मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से सबसे अधिक 194 मामले सोलन जिले से रिपोर्ट हुए हैं। हालांकि, खुशी की बात यह है कि अभी तक डेंगू की वजह से किसी भी व्यक्ति की मौत दर्ज नहीं हुई है। 

यह भी पढ़ें: BJP नेता सत्ती के प्रतिभा सिंह को लेकर बिगड़े बोल, बोले- वीरभद्र सिंह को स्वर्ग सिधारे..

मिली जानकारी के मुताबिक डेंगू की जांच के लिए अभी तक 2400 से ज्यादा सैंपल लिए जा चुके हैं, जिनमें से कुल 261 लोग संक्रमित पाए गए हैं। प्रदेश मे बढ़ते डेंगू के मामलों के कारण स्वास्थय विभाग भी अलर्ट हो गया है। 

वहीं, विभाग द्वारा यह अटकलें भी लगाई जा रही कि अब मानसून जा चुका है और ठंड शुरू हो चुकी है। जो ऐसे में डेंगू के मामले कम हो जाएंगे। बता दें कि डेंगू का मच्छर साफ पानी में पनपता है। 

ऐसे में जब भी बारिश होती है या किसी अन्य वजह से पानी एक जगह एकत्रित हो जाता है तो डेंगू यह जगह डेंगू के मच्छर को के पैदा होने के बेहतर है। डेंगू का मच्छर साफ पानी में अंडे देता है। 

इसके बाद करीब दो स्पताह के भीतर मच्छर तैयार हो जाता है। इतना ही नहीं घरों में भी गमलों सहित फ्रिज के पीछे एकत्रित होने वाले पानी में भी डेंगू को मच्छर पनपता है। ऐसे में घर में पानी एकत्रित ना होने दें। 

जानें डेंगू की वजह से क्या होता है-

  • डेंगू होने से इनसान के शरीर में प्लेटलेट्स की कमी हो जाती है। 
  • इंसान के शरीर में प्लेटलेट्स छोटी रक्त कोशिकाएं होती हैं, जो बोनमैरो में पाई जाती है। 
  • शरीर में प्लेटलेट्स की कमी होने की वजह से खून में बीमारियों से लड़ने की ताकत कम हो जाती है। 
  • स्वास्थय व्यक्ति के शरीर में सामान्य प्लेटलेट्स 1 लाख 50 हजार से 4 लाख 50 हजार प्रति माइक्रोलीटर होती हैं। 
  • यदि यह प्लेटलेट्स 1 लाख 50 हजार से कम हो जाए तो इसे लो प्लेटलेट्स कहा जाता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ