कांग्रेस को सैनिक संगठन की वार्निंग, पाकिस्तान परस्त सिद्धू हिमाचल आया तो खैर नही

Ticker

6/recent/ticker-posts

कांग्रेस को सैनिक संगठन की वार्निंग, पाकिस्तान परस्त सिद्धू हिमाचल आया तो खैर नही

शिमला/कांगड़ा: कांग्रेस पार्टी के स्टार प्रचाराकों का हिमाचल में विरोध शुरू हो गया है। सैनिक लीग पालमपुर ने सिद्धू का विरोध किया है। वहीं, छात्र संगठनों ने कन्हैया कुमार को देश विरोधी बताते हुए विरोध दर्ज कराया है।

सिद्धू का पाकिस्तान से संबंध:

बता दें कि सैनिक लीग ने प्रस्ताव पारित कर सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर को भेजा है। जिसमें उन्होंने आग्रह किया है कि सिद्धू को हिमाचल प्रचार करने आने से रोका जाए। सैनिक लीग का कहना है कि अगर नवजोत सिद्दू को उपचुनाव में कांग्रेस ने स्टार प्रचारक बनाया तो इसका खामियाजा कांग्रेस को भुगतना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: बेटे ने पुलिस को बताया- स्कूटी से मंदिर गए पिता घर नहीं लौटे, खोजने में करें मदद

प्रदेश सैनिक लीग के उपाध्यक्ष एवं पालमपुर लीग के अध्यक्ष सीडी सिंह गुलेरिया ने इस प्रस्ताव में आरोप लगाए हैं कि सिद्धू का पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान तथा पाकिस्तानी सेना प्रमुख बाजवा से गहरे मित्रता के संबंध है। हमारे हजारों सैनिक परिवारों व निर्दोष जनता की हत्याओं से इनके हाथ रंगे हैं। यह भारत देश की एकता अखंडता के लिए भी गहरा खतरा है।

देशविरोधियों के लिए हिमाचल में जगह नहीं:

सिद्धू अपने स्वार्थ हित में अपने ही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को ईंट से ईंट बजाने की धमकी दे सकता है, तो वह देश को नुकसान पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा। सिद्धू ने पूरे सैन्य समाज की तौहीन ही नहीं की है, बल्कि हमारी भावनाओं पर जले पर नमक डालने की कोशिश की है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: मंदिर के पास पहुंचते ही खाई की ओर लटकी बस, 40 थे सवार-15 पहुंचे अस्पताल

उन्‍होंने कहा जो व्यक्ति अपने देश का नहीं हो सकता, उसे हिमाचल की देवभूमि में पूर्व सैनिक नहीं आने देंगे। सैनिक लीग ने कांग्रेस से आग्रह किया कि इस व्यक्ति को हिमाचल की देवभूमि में पांव नहीं रखने दिया जाए, अन्यथा कांग्रेस के लिए भारी पड़ सकता है। लीग ने सभी कांग्रेस उम्मीदवारों से आग्रह किया है कि सिद्धू को हिमाचल प्रदेश प्रचार में आने से रोका जाए।

साथ ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने भी कन्हैया कुमार के हिमाचल आने का विरोध किया है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि कन्हैया भारत के टुकरे करने की बात करता है और देश विरोधी तत्वों के साथ उसकी भी मिलीभगत है।

Post a Comment

0 Comments