हिमाचल: निर्मोही मां ने छीनी ली नवजात बेटे की जिंदगी- झाड़ियों में फेंक दिया था, हुआ दुखद निधन

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: निर्मोही मां ने छीनी ली नवजात बेटे की जिंदगी- झाड़ियों में फेंक दिया था, हुआ दुखद निधन

बिलासपुर। हिमाचल प्रदेश में बीते कुछ महीनों के अन्दर ममता को शर्मसार करने वाले ढेरों मामले सामने आ चुके हैं। इस सब के बीच हाल ही में सूबे के मंडी जिले से सामने आए दो जुड़वा बच्चियों वाले मामले के बाद अब कुछ इस तरह का मामला सूबे के बिलासपुर जिले से सामने आया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: घर में घुस गया 12 फीट का अजगर, लड़के ने YouTube वीडियो देख पकड़ लिया

यहां पर एक खेत में नवजात शिशु को लावारिस हालत में बरामद किया गया। इसके बाद उसे अस्पताल में ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसका निधन हो गया। वहीं, पुलिस ने इस सम्बन्ध में मामला दर्ज कर आगामी छानबीन शुरू कर दी है। यह मामला जिले के झंडूता उपमंडल की ग्राम पंचायत घंडीर के एक गांव से सामने आया है। जहां स्थित एक खेत में शिशु को झाडियों के नीचे छोड़ दिया गया था। 

नीले कपड़े मे खून से लिपटा था नवजात

इस बीच आज सुबह सुबह सात बजे घंडीर निवासी लेखराम अपने खेतों में गोबर फेंकने गया, तो उसे कुछ ही दूरी पर झाडियों से कुछ अजीब सी चिल्लाने की आवाज आई। हालांकि, लेख राम अजीब सी आवाज को सुनकर घबरा गया, लेकिन हिम्मत करके वहां पहुंचा तो देखा कि एक नीले कपड़े मे खून से लिपटा नवजात शिशु पड़ा हुआ था। 

यह भी पढ़ें: विशाल नेहरिया का वीडियो: बोले- पत्नी को मारा था पर उसके खिलाफ बुरा नहीं सुन सकता

उन्होंने इसकी जानकारी पंचायत प्रधान नीलम कुमारी को दी। पंचायत प्रधान ने उक्त स्थान पर पंहुच कर एंबुलेंस को बुलाकर नवजात शिशु को मौके पर उपचार के बाद समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरठी भेजा। इसके बाद नवजात बच्चे को बिलासपुर अस्पताल पहुंचाया गया। जहां तुरंत ही मासूम को NICU में दाखिल कर दिया गया। 

डॉ ने बचाने का बहुत किया प्रयास लेकिन..

बताया गया कि शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ सतीश शर्मा ने मासूम बच्चे को बचाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया, मगर कुदरत को कुछ ओर ही मंजूर था। ऐसा प्रतीत हो रहा था कि शिशु का जन्म प्रि मैच्योर हुआ है। उसका वजन 1 किलो 200 ग्राम पाया गया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः शिक्षक ने छात्रा के घर में ही की थी घटिया हरकत- मिली ये सजा

अब पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 317 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस इस सवाल का जवाब ढूंढ रही है कि आखिर नवजात बालक को लावारिस हालत में किसने और क्यों छोड़ा।

Post a Comment

0 Comments