हिमाचल की बेटी लोगीना ठाकुर बनीं नर्सिंग ऑफिसर, एम्स में देंगी सेवाएं- शुभकामनाएं

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल की बेटी लोगीना ठाकुर बनीं नर्सिंग ऑफिसर, एम्स में देंगी सेवाएं- शुभकामनाएं


कुल्लूः
कहते हैं कि मंजिल तक पहुंचने के लिए रास्ता कितना भी कठिन क्यों ना हो उसे अपनी मेहनत और लगन से पार किया जा सकता है। इस बीच कुल्लू जिले के कलवारी गांव की रहने वाली लोगीना ठाकुर ने अपनी कड़ी मेहनत व लगन के चलते चिकित्सा अधीक्षक भारतीय आयुर्वेद संस्थान बिलासपुर में बतौर नर्सिंग अधिकारी के पद पर कार्यभार संभाला है। बेटी की इस तरक्की पर पूरे इलाके में खुशी का महौल है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः दोस्त की शादी में कहासुनी पड़ी भारी, पिटाई से टूटा दम- 2 माह की बेटी छोड़ गया

मिली जानकारी के मुताबिक लोगीना एम्स की परीक्षा सफल करने से पहले चंडीगढ सरकार द्वारा आयोजित नर्सिंग परीक्षा में भी सफलता हासिल कर गवर्नमेंट मेडकल कॉलेज व अस्पताल में डेढ़ साल तक नौकरी कर चुकी हैं। इतना ही नहीं लोगीना ने हिमाचल सरकार द्वारा आयोजित नर्सिंग परीक्षा भी पास कर ली थी जिस वजह से उसे बतौर नर्स टांडा अस्पताल में ज्वॉइन करना था। 

बागवान पिता की बेटी- मां हैं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता 

परंतु लोगीना के दिल में तो सिर्फ और सिर्फ एक ही चाह थी कि उसे एम्स की परीक्षा पास कर बतौर अधिकारी तैनाती चाहिए थी। इसके बाद क्या लोगीना ने पूरी लगन से इस परीक्षा की तैयारी की और इसमें सफलता हासिल कर 22 अक्टूबर को बतौर नर्सिंग अधिकारी ज्वाइन किया।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः 9 माह पहले ब्याही दुल्हन ने जोड़ा पहन शहीद पति को दी अंतिम विदाई, सबकी आंखें नम

बता दें कि लोगीना ठाकुर के पिता चिरंजी लाल ठाकुर पेशे से बागवान हैं जबकि उनकी माता आंगनबाड़ी कार्यकर्ता है। अपनी बेटी की तरक्करी पर वे काफी खुश हैं। वहीं, पिता चिंरजी से प्राप्त जानकारी के मुताबिक उनकी बेटी यानी लोगीना ठाकुर ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा कलवारी गांव के सरकारी स्कूल से ग्रहण की। इसके बाद उच्च शिक्षा बंजार, मंडी व चंडीगढ़ से बीएससी नर्सिंग की पढाई पूरी की।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ