हिमाचल में ट्रैकिंग को लेकर बन रहे नियम- रजिस्ट्रेशन कराना होगा, ट्रेक रूटों का होगा श्रेणीकरण

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में ट्रैकिंग को लेकर बन रहे नियम- रजिस्ट्रेशन कराना होगा, ट्रेक रूटों का होगा श्रेणीकरण


शिमला। हिमाचल प्रदेश की वादियों में ट्रेकिंग करने की इच्छा लेकर आने वाले पर्यटकों को अगले सीजन से बिना पंजीकरण के ट्रैकिंग रूटों पर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। बतौर रिपोर्ट्स, प्रदेश सरकार इसको लेकर एक वेब पोर्टल शुरू करने जा रही है, जिसमें ट्रैकिंग करने के इच्छुक लोगों को पंजीकरण कराना होगा। 

इसके बाद ट्रैकरों को दी जाने वाली अनुमति पत्र की प्रतियां जिला प्रशासन, स्थानीय पुलिस, पर्यटन विभाग के अलावा वन विभाग के अधिकारियों को भी जाया करेंगी।

आज सोमवार को मुख्य सचिव राम सुभग सिंह की अध्यक्षता में हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में इस बात को लेकर निर्णय लिया गया है। 

बता दें को छितकुल में सात ट्रैकरों की मौत और दो के लापता होने की घटना के बाद यह निर्णय लिया गया है।

इस बैठक में फैसला लिया गया है कि अगले साल 15 सितंबर के बाद से पूरे विंटर सीजन में ट्रैकिंग पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी जाएगी। 

इसके साथ ही ट्रैकों को ऊंचाई के अनुसार रेड, ऑरेंज और ग्रीन श्रेणी में बांटने का भी निर्णय लिया गया है। वहीं, अनुमति देने के समय गाइड और उपकरणों से संबंधित जरूरी शर्तें भी लगाई जाएंगी। 

सूत्रों द्वारा इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया गया कि पंद्रह अप्रैल के बाद से ट्रैकिंग को इसी पोर्टल के जरिये रेगुलेट किया जाएगा ताकि भविष्य में लोगों की जान न जाए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ