हिमाचल वीडियो: कंधों पर घायल गाय और होंठों पर पहाड़ी गीत, कुछ ऐसे पेश की मानवता की मिसाल

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल वीडियो: कंधों पर घायल गाय और होंठों पर पहाड़ी गीत, कुछ ऐसे पेश की मानवता की मिसाल


सिरमौरः
सनातन धर्म में गाय को माता की उपाधि दी गई है, लेकिन आजकल गौ वंश के साथ घटित हो रहे अपराध किसी से छिपे नहीं है। इस सब के बीच हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में मानवता की मिसाल पेश करते हुए लोगों ने ऐसा कि काम किया है, जिसकी वजह से क्षेत्र सहित पूरे राज्य में उनकी वाहवाही की जा रही है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: शादी से चार दिन पहले दूल्हे ने किया सात फेरों से इनकार, यहां पढ़ें क्या है पूरा माजरा

बता दें कि जिले के नाहन के तहत पड़ते गिरीपार रेणुका क्षेत्र में हरिपुरधार के निकट बडयाल्टा नामक गांव में लोगों ने जब रास्ते में घायल गाय को देखा तो उन्होंने उसे उसके मालिक तक पहुंचाने की ठान ली। फिर क्या, लोगों ने 5 क्विंटल गाय को अपने कंधों पर उठाकर डेढ किलोमीटर तक का रास्ता तय कर उसके मालिक के पास पहुंचाया। इस दौरान लोग पहाड़ी संगीत गुनगुनाते हुए चल रहे थे। 

यहां देखें वायरल हो रहा वीडियो 

इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि किस तरह से लोगों ने गाय को अपने कंधे पर दुल्हन की तरह उठा रखा है। इतना ही नहीं हंसते हुए गाना गुनगुनाते हुए कैसे रास्ता कट गया इस का पता भी नहीं लगा।  

यह भी पढ़ें: BJP MLA बोले- पति की मौत के बाद महिलाएं 1 साल मातम मनाती हैं, विक्रमादित्य ने दिया जवाब

वहीं, बात करें आज के समय की तो अकसर हम रास्ते में आवारा पशुओं को देखते हैं जिनकी देख रेख करने वाला कोई नहीं हैं। कई लोग तो ऐसे भी हैं जो अपना काम सरने के बाद इन पशुओं को जंगल में छोड़ आते हैं। इस बीच मानवता की मिसाल पेश करते हुए लोगों ने सभी को यह संदेश दिया है कि गाय को माता का दर्जा धर्म ग्रंथों में ही नहीं दिया गया है वे असलियत में गाय को अपनी माता मानते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ