हिमाचल: विजलेंस ने फोड़ा भांडा- प्रिंसिपल समेत एक दर्जन पूर्व सैनिकों की डिग्रियां निकलीं फर्जी

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: विजलेंस ने फोड़ा भांडा- प्रिंसिपल समेत एक दर्जन पूर्व सैनिकों की डिग्रियां निकलीं फर्जी

बिलासपुर। हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले से एक बड़ा ही चौंकाने वाला मामला रिपोर्ट किया गया है। दरअसल, सूबे के सोलन जिले स्थित मानव भारती विश्वविद्यालय के बाद अब बिहार की मगध यूनिवर्सिटी में भी फर्जी डिग्रियों का भंडाफोड़ हुआ है। इस यूनिवर्सिटी द्वारा बांटी फर्जी डिग्रियों का लाभ हिमाचल के डेढ़ दर्जन लोगों ने लिया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: एक नट ने ले ली मैकेनिक की जान, पोकलेन की मरम्मत करने में जुटा था

इनमें एक स्कूल प्रिंसिपल और एक दर्जन पूर्व सैनिकों के शामिल होने की बात सामने आ रही है। बतौर रिपोर्ट्स, जिला बिलासपुर के रहने वाले एक स्कूल प्रिंसिपल की तो बीएससी, एमएससी और बीएड तीनों डिग्रियां फर्जी पाई गई हैं। इस पूरे मामले का भांडाफोड़ हमीरपुर विजिलेंस की चार सदस्यीय टीम ने किया है। 

विजलेंस की टीम ने बिहार जाकर की सभी डिग्रियों की जांच 

इस टीम ने बिहार जाकर 17 डिग्रियों की जांच की। विश्वविद्यालय के कुलपति ने सभी 17 डिग्रियों को फर्जी बताया है। करीब एक हफ्ता जांच-पड़ताल करने के बाद अब यह टीम बिहार से हिमाचल प्रदेश लौट आई है। इस मामले में अब बड़ी कार्रवाई की तैयारी हो रही है। माना जा रहा है कि विजिलेंस में एफआईआर दर्ज होने के साथ ही फर्जी डिग्रियों के सहारे नौकरियां हासिल करने वाले सरकारी कर्मचारियों की बर्खास्तगी होगी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: माता-पिता बेटों को लेकर घर से बाहर गए, पानी के टंकी में डूब गई ढाई साल की बिटिया

गौरतलब है कि इससे पहले मार्च माह 2018 में भी विजिलेंस टीम बिहार की मगध यूनिवर्सिटी में फर्जी डिग्रियों की जांच कर चुकी है। उस दौरान संबंधित डिग्री धारकों का कोई रिकॉर्ड विश्वविद्यालय में नहीं मिला था, लेकिन एफआईआर के बाद भी उस दौरान भी कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: पति को जहर खाने के लिए उकसाने वाली माहिला के घर फिर मिलीं चिट्ठियों की 10 बोरियां

राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो, हमीरपुर के DSP लालमन शर्मा ने इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए कहा कि फर्जी डिग्रियों की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम बिहार की मगध यूनिवर्सिटी भेजी गई थी, टीम वापस आ चुकी है। मगध यूनिवर्सिटी के अधिकारियों ने माना है कि 17 हिमाचली डिग्री धारकों का विश्वविद्यालय में कोई भी रिकॉर्ड नहीं है।

Post a Comment

0 Comments