हिमाचल कांग्रेस के लिए अपने ही बनेंगे चुनौती: वीरभद्र के विरोधी को दिया टिकट, मंडी में भी...

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल कांग्रेस के लिए अपने ही बनेंगे चुनौती: वीरभद्र के विरोधी को दिया टिकट, मंडी में भी...


शिमला:
हिमाचल कांग्रेस ने उपचुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया है। लेकिन कांग्रेस पार्टी के सामने अब बड़ी चुनौती आ गई है।

राजा के विरोधी को मिला टिकट:

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की सीट अर्की को काफी अहम माना जा रहा है। आज ही खबर आई कि अर्की कांग्रेस कमिटी के सभी 50 वरिष्ठ अधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल उपचुनाव: कांग्रेस ने फाइनल किए उम्मीदवारों के नाम- प्रतिभा सिंह समेत इन्हें मिला टिकट, जानें

अर्की से संजय अवस्थी को टिकट दिया गया है। विक्रमादित्य और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री का गुट संजय को टिकट देने के पक्ष में नहीं था।

2017 में राजा को हराने के लिए कर रहे थे काम:

इसके पीछे का कारण यह है कि 2017 के विधानसभा चुनाव में संजय अवस्थी पर वीरभद्र सिंह के विरोध में काम करने का आरोप लगा था। उस समय आलाकमान को इसकी रिपोर्ट भी सौंपी गई थी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल ब्रेकिंग: खाई में गिरी कार- चार की गई जान, बदबू से चला सका हादसे का पता

संजय को टिकट दिए जाने से नाराज चल रहे सभी स्थानीय नेताओं ने अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी। लेकिन किसी की नहीं सुनी गई और पूरे कैडर के वोरोध में जाने के बाद भी संजय का नाम फाइनल कर दिया गया।

मंडी में सुखराम हैं नाराज:

ऐसे में अब कांग्रेस पार्टी और संजय अवस्थी के लिए सीट निकालना बड़ी चुनौती बन गई है। पार्टी को अपने ही सक्रिय कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ सकता गया।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः घास चरते बैल के जबड़े में हुआ ब्लास्ट- जख्म ऐसे की कराह भी नहीं पा रहा

वहीं, मंडी लोकसभा सीट से प्रतिभा सिंह चुनाव लड़ेंगी। इनके नाम पर भी आधिकारिक मुहर लग गई है। इस सीट पर भी कांग्रेस पार्टी को पंडित सुखराम के परिवार का विरोध झेलना होगा।

कार्यकर्ता ही बनेंगे चुनौती:

हालांकि, पंडित सुखराम मंडी सदर के विधानसभा सीट पर ही अधिक मजबूत हैं। बाकी के सीटों पर उनकी पकड़ कमजोर हो चुकी है। आश्रय शर्मा को भी बड़ी हार का सामना पिछले चुनाव में करना पड़ा था।

यह भी पढ़ें: सरकारी नौकरी का शानदार मौका: स्टेट बैंक में निकली 2000 से अधिक पदों पर भर्ती- जानें डिटेल

ऐसे में कांग्रेस पार्टी के लिए अपने ही कार्यकर्ता चुनाव में चुनौती बन कर सामने आ सकते हैं। अर्की सीट निकलना पर राजा साहब की सहानुभूति वोट भी संजय अवस्थी को मिलने की संभावना कम है।

Post a Comment

0 Comments