डीसी के दरबार पहुंची मां बोली: ये सुविधा बहाल करा दो नहीं तो रूक जाएगा बेटे का इलाज

Ticker

6/recent/ticker-posts

डीसी के दरबार पहुंची मां बोली: ये सुविधा बहाल करा दो नहीं तो रूक जाएगा बेटे का इलाज


हमीरपुर
: हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले से एक महिला का गलत तरीके से बीपीएल सूची से नाम काटने की खबर सामने आई है। महिला ने इस बाबत डीसी देव श्वेता बनिक से शिकायत की है।

बेटे को है गंभीर बीमारी:

महिला बंदना देवी का कहना है कि उसका बेटा (छह वर्षीय) गंभीर बीमारी से ग्रसित है। जिसका उपचार राजधानी शिमला के आईजीएमसी में चल रहा है। बीपीएल कार्ड के कारण इलाज में उसकी बड़ी मदद हो जाती है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: जिंदगी की जंग हार गई ढाई साल की मासूम, नशेड़ी ट्रैक्टर ड्राइवर ने रौंदा था

बता दें कि महिला ग्राम पंचायत धलोट के भुराण गांव की निवासी है। उसके अनुसार पंचायत में पिछले दिनों ग्राम सभा की बैठक हुई थी। जिसमें उसका नाम बीपीएल सूची में रखने के लिए सभी राजी हुए थे। 

प्रधान-सचिव की मनमर्जी:

महिला ने आरोप लगाते हुए कहा कि शाम पांच बजे के बाद पंचायत सचिव और प्रधान ने बीपीएल सूची से उनका नाम काट दिया। महिला का कहना है कि वह बीपीएल कार्ड धारक की योग्यता पर खड़ी उतरती है। ये काम पंचायत सचिव और प्रधान ने द्वेष के कारण की है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल वासियों को मौसम की मार से राहत: जानें कबतक साफ़ रहेगा मौसम- खिलती रहेगी धूप

बीपीएल सूची से नाम बाहर हो जाने के कारण महिला के बेटे के इलाज में 10-15 हजार रुपए का अतिरिक्त मासिक खर्च बढ़ गया है। जिस कारण वह आगे इलाज कराने में अक्षम है। डीसी देव श्वेता बनिक ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

ऐसी शिकायतें हैं आम:

गौरतलब है कि बीपीएल सूची से नाम काटे जाने की शिकायतें लगातार हमीरपुर जिला प्रशासन के पास पहुंच रही हैं। पिछले दिनों कई पंचायतों में बीपीएल चयन को लेकर विवाद सामने आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल के स्कूलों में कोरोना का कहर: 6 शिक्षक समेत 4 और छात्र पाए गए पॉजिटिव, कल भी मिले थे

शिकायतें मिलने के बाद संबंधित खंड विकास अधिकारियों को जिला प्रशासन की तरफ से जांच के आदेश दिए जा रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments