सुबह की सबसे अच्छी खबर: HRTC कर्मियों की हड़ताल वापस, आज दौड़ेगी बसें

Ticker

6/recent/ticker-posts

सुबह की सबसे अच्छी खबर: HRTC कर्मियों की हड़ताल वापस, आज दौड़ेगी बसें


शिमला :
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर आखिरकार अंतिम समय में प्रदेश के एचआरटीसी कर्मियों को मनाने में सफल हो गए हैं। जिसका बाद एचआरटीसी कर्मचारी समन्वय समिति ने प्रस्तावित एक दिवसीय हड़ताल को स्थगित कर दिया है।

नहीं होगा चक्का जाम:

बता दें कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कर्मियों की सभी मांगे मान ली। जिसकी पुष्टि परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव जेसी शर्मा ने संगठन के नेताओं के साथ फोन पर हुई बातचीत में की। जिसके बाद संगठन ने कल का हड़ताल टाल देने का ऐलान किया।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में कल से और लाल होगा टमाटर- आज था 80, तो कल 100 के पार बिकेगा!

बता दें कि यदि एचआरटीसी कर्मचारी सोमवार को हड़ताल पर चले जाते तो आम लोगों को समस्याओं का सामना करना ही पड़ता। साथ-साथ उपचुनाव में भी इसका खामियाजा सरकार को भुगतना पड़ता। जिसको मद्देनजर रखते हुए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने समय रहते सभी मांगे स्वीकार ली।

लाइफ लाइन है HRTC:

एचआरटीसी की बसों को हिमाचल प्रदेश का लाइफ लाइन कहा जाता है। प्रदेश भर में एचआरटीसी की बसों का बेड़ा 3 हज़ार के करीब है औऱ लंबी से स्थानीय रूटों पर परिवहन का ये मुख्य जरिया है। सूबे में कई ग्रामीण रूटों पर सिर्फ एचआरटीसी की ही बस सेवा उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें: उपचुनाव से पहले BJP को झटका: HRTC पेंशनर्स करेंगे खिलाफ में वोट, मंडी में 22 को प्रदर्शन

हिमाचल पथ परिवहन संयुक्त समन्वय समिति (जेसीसी) के सचिव खेमेन्द्र गुप्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री की तरफ से मांगें पूरी करने को लेकर आश्वासन मिला है और इस सम्बंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव परिवहन उनके साथ बैठक करेंगे। ऐसे में सरकार के सकारात्मक रुख को देखते हुए हमने सोमवार की प्रस्तावित हड़ताल को स्थगित कर दिया है तथा सभी रूटों पर एचआरटीसी बसें रोजाना की तरह चलेंगी। 

इस कारण नाराज हैं HRTC कर्मी:

इसके अलावा दिल्ली और चंडीगढ़ सहित अंतरराज्यीय रूटों पर भी एचआरटीसी की बसें ही दौड़ती हैं और रोजाना बड़ी संख्या में यात्री बसों में सफर कर अपने गंतव्य तक पहुंचते हैं। फेस्टिवल सीजन के बीच एचआरटीसी बसों की हड़ताल टलना लोगों के लिए बड़ी राहत है। 

यह भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्री अनुराग ने जनता को समर्पित की दस करोड़ से बनी चार सड़कें

गौरतलब है कि एचआरटीसी कर्मचारी पिछले कई महीनों से निगम से वित्तीय लाभ देने की मांग रहे हैं। एचआरटीसी कर्मियों का जनवरी 2016 से 13 प्रतिशत आईआर, डीए जनवरी 2019 से 4 प्रतिशत, 5 प्रतिशत जुलाई 2019 से और  6 प्रतिशत जुलाई 2021 से, कुल डीए 15 प्रतिशत, 35 महीनों का नाईट ओवर टाईम, पेंशन ग्रेच्युटी, कम्यूटेशन, लीव इनकैशमेंट, जीपीएफ, मेडिकल रिमवर्समेंट कई प्रकार के एरियर आदि कर्मचारियों के लगभग 582 करोड़ रूपए के लम्बित वित्तीय भुगतान देय है।

Post a Comment

0 Comments