'वीरभद्र सिंह की कमी है, लेकिन राम नहीं तो राम का नाम ही बहुत है'-प्रतिभा सिंह

Ticker

6/recent/ticker-posts

'वीरभद्र सिंह की कमी है, लेकिन राम नहीं तो राम का नाम ही बहुत है'-प्रतिभा सिंह


शिमला/मंडी।
हिमाचल प्रदेश में चार सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए सूबे की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस द्वारा बीते कल ही उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया गया। 

इसी कड़ी में इन चुनावों में सबसे हॉट सीट मानी जारी मंडी लोकसभा सीट से कांग्रेस हिमाचल के दिवंगत पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह को मैदान में उतारा है। वहीं, टिकट मिलने के बाद आज बुधवार को प्रतिभा सिंह ने शिमला में हॉलीलॉज में प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडिया से बात की। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में उपचुनाव के बीच महंगाई का झटका: घरेलू LPG के दाम बढ़े, कीमत 1000 के पार

इस दौरान उन्होंने मंडी संसदीय सीट से कांग्रेस प्रत्याशी बनाए जाने पर कांग्रेस पार्टी, सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका गांधी का आभार जताया। इस दौरान प्रतिभा सिंह ने कहा कि मंडी की जनता ने चुनाव के लिए प्रेरित किया और वीरभद्र सिंह के नाम के साथ वह चुनाव में उतर रही हैं। 

प्रतिभा सिंह ने किया दावा- पंडित सुखराम भी देंगे साथ 

पत्रकारों से बातचीत के दौरान प्रतिभा सिंह ने माना, 'वीरभद्र सिंह की कमी है, लेकिन राम नहीं, तो राम का नाम ही बहुत है।' उन्होंने आगे कहा कि वह दुविधा में थी कि इस दुख की घड़ी चुनाव कैसे लड़ेंगी। हाल ही में छोटे भाई का भी देहांत हुआ। फिर मंडी की जनता से संवाद किया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः नौवीं से 12वीं कक्षा के छात्रों की लगेंगी नियमित कक्षाएं! यहां जानें कब से..

उन्होंने आगे बताया कि वह 8 अक्तूबर को मंडी में नामांकन दाखिल करेंगी। जनता के दरबार में वीरभद्र सिंह के कार्यों को लेकर जाएंगे। साथ ही बेरोजगारी और महंगाई बड़ा मुद्दा है। 

प्रतिभा का कहना है कि पंडित सुखराम भी उनका और कांग्रेस पार्टी का साथ देंगे। करुणामूलक नौकरियां, बेरोजगारी, महंगाई और सेब के गिरते दामों को चुनाव में मुद्दा बनाएंगे। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह के विकास कार्यों के बलबूते भाजपा सरकार का सामना किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments