कांग्रेस के लिए राजा का गढ़ जीतना मुश्किल: टिकट न मिलने पर राजेंद्र ठाकुर का इस्तीफा, BJP के साथ..

Ticker

6/recent/ticker-posts

कांग्रेस के लिए राजा का गढ़ जीतना मुश्किल: टिकट न मिलने पर राजेंद्र ठाकुर का इस्तीफा, BJP के साथ..


सोलन:
हिमाचल कांग्रेस के लिए राजा वीरभद्र सिंह की सीट बचानी भी मुश्किल हो गई है। अर्की के दिग्गज कांग्रेस नेता ने इस्तीफा दे दिया है।

पूरे कैडर ने भी दिया इस्तीफा:

कांग्रेस पार्टी ने 2017 के विधानसभा चुनाव में वीरभद्र सिंह के खिलाफ काम करने वाले सुक्खू -विद्या स्टोक्स गुट के संजय अवस्थी को टिकट दिया है।

यह भी पढ़ें: CM जयराम से बंद कमरे में मिले अनिल शर्मा, भाजपा के पक्ष में प्रचार करेगा सुखराम परिवार!

इससे पहले आज ही अर्की कांग्रेस कमिटी के सभी अधिकारियों ने पार्टी अध्यक्ष के पास अपना उपाध्यक्ष भेज दिया था।

जिसके बाद अब मिल रही सूचना के अनुसार इस्तीफा देने वालों की संख्या 82 पहुंच गई है। जिनमें अर्की युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक भारद्वाज का नाम भी शामिल है।

कर सकते हैं भाजपा का समर्थन:

वहीं, सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार राजेंद्र ठाकुर भाजपा को अपना समर्थन दे सकते हैं। हालांकि, यह साफ नहीं हो पाया है कि भाजपा जॉइन करेंगे या नहीं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल कांग्रेस के लिए अपने ही बनेंगे चुनौती: वीरभद्र के विरोधी को दिया टिकट, मंडी में भी...

निर्दलीय मैदान में उतरने की भी आशंका को भी खारिज कर अर्की कांग्रेस के एक बड़े नेता ने बताया कि भाजपा यदि राजेंद्र ठाकुर को टिकट देती है तो वह अपने पूरे कैडर के साथ भाजपा जॉइन कर सकते हैं।

सहानुभूति वोट भी टूटने के आसार:

इन तमाम अटकलों के बीच अब यह तय माना जा रहा है कि अर्की सीट निकालने के लिए कांग्रेस पार्टी को दांतों तले चने चबाने होंगे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल ब्रेकिंग: खाई में गिरी कार- चार की गई जान, बदबू से चला सका हादसे का पता

संजय अवस्थी को टिकट मिलने से वीरभद्र सिंह के निधन से मिलने वाली सहानुभूति वोट भी नहीं मिलने के आसार हैं। राजेंद्र ठाकुर वीरभद्र सिंह के करीबी थे और उनके बीमार रहने के दौरान उनका अर्की का कामकाज देखते थे।

Post a Comment

0 Comments