प्रतिभा सिंह की माफ़ी के बाद विक्रमादित्य की सफाई: अकेले ब्रिगेडियर ने नहीं जीता कारगिल युद्ध

Ticker

6/recent/ticker-posts

प्रतिभा सिंह की माफ़ी के बाद विक्रमादित्य की सफाई: अकेले ब्रिगेडियर ने नहीं जीता कारगिल युद्ध


मंडी।
हिमाचल प्रदेश में चार सीटों पर हो रहे उपचुनाव के चलते सूबे का सियासी पारा बढ़ा हुआ है। इस सब के बीच प्रतिभा सिंह द्वारा कारगिल युद्ध पर दिया गया बयान बड़ा मुद्दा बनकर उभरा है। इस सब के बीच आज जहां मंडी संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस की उम्मदीवार प्रतिभा सिंह ने अपने बयान को लेकर माफ़ी मांगते हुए बीजेपी के ऊपर उनके बयान को तोड़ मरोड़कर पेश करने का आरोप लगाया है। 

बीजेपी सैनिक के नाम पर राजनीति कर रही 

वहीं, अब प्रतिभा सिंह के बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने इस बयान को लेकर अपनी तरफ से सफाई पेश की है। विक्रमादित्य ने कहा है कि बीजेपी प्रत्याशी ब्रिगेडियर कुशाल ठाकुर का सैनिक होने के नाते वह मान-सम्मान करते हैं, लेकिन कारगिल युद्ध को उन्होंने अकेले नहीं जीता। इस जीत में देश और प्रदेश के हजारों सैनिकों का योगदान रहा है, लेकिन बीजेपी सैनिक के नाम पर राजनीति कर रही है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: 5वीं से 7वीं के छात्रों के भी खुलेंगे स्कूल! लेकिन कब से- यहां जानें

जयराम ठाकुर प्रदेश का सही नेतृत्व नहीं कर पा रहे

सूबे के जनजातीय जिले किन्नौर में चुनाव प्रचार करने पहुंचे विक्रमादित्य ने कहा कि केंद्र में बीजेपी सरकार के 7 साल और हिमाचल में चार साल का कार्यकाल पूरा होने जा रहा है। बावजूद इसके 69 एनएच बनाने की घोषणा अब भी धरातल पर नहीं दिख रही है। लोगों को 1000 रुपए में गैस सिलिंडर लेना पड़ रहा है। उन्होंने यहां तक कह दिया कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर प्रदेश का सही नेतृत्व नहीं कर पा रहे हैं। 

Post a Comment

0 Comments