हिमाचल प्रदेश के ट्रस्ट का क्लोन चेक देकर 2.4 करोड़ हडपने चले थे 9 शातिर, पकड़े गए

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल प्रदेश के ट्रस्ट का क्लोन चेक देकर 2.4 करोड़ हडपने चले थे 9 शातिर, पकड़े गए


भदोही।
हिमाचल प्रदेश स्थित बाबा बालक नाथ टेंपल ट्रस्ट का क्लोन चेक देकर 2.4 करोड़ हडपने की कोशिश में जुटे 9 शातिर ठगों को उत्तर प्रदेश के भदोही जनपद की क्राइम ब्रांच ने रंगे हाथों पकड़ लिया है। इन आरोपियों ने ट्रस्ट का क्लोन चेक बनाकर भदोही के बैंक से दो करोड़ चालिस लाख रुपए निकालने का प्रयास किया था। 

ट्रस्ट के खाते में मौजूद है 5 करोड़ से अधिक की धनराशि

पुलिस द्वारा इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया गया कि हिमाचल प्रदेश में स्थित बाबा बालक नाथ ट्रस्ट टेंपल के बैंक खाते में 5 करोड़ रुपए से ज्यादा की धनराशि है। इस बात का पता किसी तरह से ठगों को लग गया था, जिसके बाद उन्होंने एचडीएफसी बैंक के क्लोन चेक तैयार किए और दो करोड़ 40 लाख रुपए का क्लोन किया हुआ चेक भदोही स्थित एचडीएफसी बैंक में क्लीयरेंस के लिए लगाया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: जहर खाने के बाद बिगड़ी तबीयत-अस्पताल ले जाने पर भी नहीं बचा

ऐसे में जब बैंक के अधिकारियों ने इतनी बड़ी रकम को क्लीयर करने से पहले जब जांच की तो उन्हें कुछ संदेह हुआ। इसके बाद उन्होंने भदोही जनपद की क्राइम ब्रांच को संपर्क किया। जांच में यह चेक क्लोन किया हुआ पाया गया, पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर क्राइम ब्रांच की टीम ने पूरे मामले में विस्तृत जांच शुरू की तो करोड़ों रुपये की ठगी के प्रयास की साजिश का खुलासा हुआ।

कालीन खरीद के बहाने लगाना चाहते थे चूना 

पुलिस अधीक्षक डॉ अनिल कुमार ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रयागराज जनपद के रहने वाले विक्की पांडेय ने यह चेक मिर्जापुर के रहने वाले खुशनुद खान को दिया था। उसके बाद इन लोगों ने इस चेक के माध्यम से करोड़ों रुपये ट्रस्ट के खाते से भुनाने का प्रयास शुरू किया। इसी साजिश के तहत गैंग के एक साथी ने भदोही में स्थित एक कालीन कारोबारी से मुलाकात की और उससे कहा कि एक पार्टी उनसे कालीन खरीदना चाहती है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल वीडियो वायरल: कॉलेज में भिड़ी दो छात्राएं, जमकर चले लात-घूसे

वह आपके खाते में एक चेक के जरिए रुपए भेजेगी। बैंक में जब क्लोन किया हुआ चेक क्लीयरेंस के लिए गया तो बैंक के कर्मचारियों ने कालीन कारोबारी से भी इस बाबत बात की, जब उसको पता लगा कि दो करोड़ 40 लाख रुपए उसके खाते में ट्रांसफर करने के लिए चेक लगाया गया है। तो उसको भी शक हुआ कि बिना कालीन का सैंपल और मोलभाव किये बिना कोई कैसे करोड़ों का माल खरीद सकता है।

Post a Comment

0 Comments