सवर्णों के बीच कांग्रेस का कद बढ़ा: विक्रमादित्य को छोड़ सभी विधायकों का गंगाजल से होगा शुद्धिकरण

Ticker

6/recent/ticker-posts

सवर्णों के बीच कांग्रेस का कद बढ़ा: विक्रमादित्य को छोड़ सभी विधायकों का गंगाजल से होगा शुद्धिकरण


शिमला।
हिमाचल प्रदेश में सवर्ण आयोग के गठन की मांग लगातार तेज होती जा रही है। हाल ही में संपन्न हुए उपचुनाव में राजनीतिक दलों को भी सवर्ण समाज के रोष का समना करना पड़ा। वहीं, इसके बावजूद भी जब सरकार की तरफ से आश्वासन के सिवाय सवर्ण आयोग के गठन के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं तो, देवभूमि सवर्ण मोर्चा के लोग सरकार के विरोध में 800 किलोमीटर लंबी पदयात्रा पर निकल गए हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल का ड्राइवर 20 लाख की शराब संग धराया: चावल के मुरमुरे के नीचे छुपा रखे थे कार्टन

इसी कड़ी में शिमला से होकर कुमारहट्टी सोलन से उत्तराखंड होते हुए हरिद्वार जाने वाली यह पदयात्रा सोलन से सराहां सिरमौर की ओर रवाना हुई। इस यात्रा के दौरान सोलन से धर्मपुर की ओर जाते हुए पदयात्रा के दौरान देवभूमि क्षत्रिय संगठन के प्रदेशाध्यक्ष रुमित सिंह ठाकुर ने पत्रकारों से बातचीत की और उन्हें अपने रुख से अवगत कराया। इस बातचीत में उन्होंने शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह की तारीफ भी की। 

विक्रमादित्य सिंह का किया धन्यवाद 

इस दौरान रुमित सिंह ठाकुर ने कहा कि शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने सवर्ण आयोग पर चिंतन और मंथन किया है। उन्होंने आगे कहा कि सवर्ण आयोग की मांग लम्बे समय से की जा रही है, लेकिन हिमाचल सरकार इसपर चुप्पी साधे हुए है। सरकार को सवर्ण आयोग पर किसी भी प्रकार का कोई ध्यान नहीं है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः अज्ञात वाहन ने स्कूटी को मारी टक्कर, एक की गई जान, एक PGI रेफर

बकौल रुमित सिंह ठाकुर, हिमाचल के 68 विधायकों में से सिर्फ शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने उनकी बात पर चिंता की है और इस के लिए उनका धन्यवाद करते है उन्होंने कहा कि शिमला से हरिद्वार और हरिद्वार से धर्मशाला तक होने वाली इस पदयात्रा के अंतिम दिन धर्मशाला में पहुंचकर सिर्फ शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह को छोड़कर सभी विधायकों का हरिद्वार से लाए गंगाजल से शुद्धिकरण और विरोध प्रदर्शन होगा। 

Post a Comment

0 Comments