'वोट नहीं, श्रद्धांजलि चाहिए' सहानुभूति की वजह से कांग्रेस उपचुनाव जीती: CM जयराम

Ticker

6/recent/ticker-posts

'वोट नहीं, श्रद्धांजलि चाहिए' सहानुभूति की वजह से कांग्रेस उपचुनाव जीती: CM जयराम


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश में हाल ही में संपन्न हुए उपचुनावों में सूबे के सत्तासीन दल भारतीय जनता पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा था। इन चुनावों में बीजेपी को सबसे बड़ा धक्का मंडी लोकसभा सीट पर लगा। 

जहां सीएम का गृह जिला होने के बावजूद भी बीजेपी अपना गढ़ नहीं बचा सकी। यहां पर हुए उपचुनावों में हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम दिवंगत राजा वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह ने जीत हासिल की। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल के इन 25 हजार कर्मियों के बीच ख़ुशी की लहर: नीति बनाने का शुरू हुआ काम

वहीं, इन उपचुनावों के बाद जहां हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के नेता बेहद ही उत्तसाहित और सरकार के खिलाफ आक्रमक हो गए हैं।  

वहीं, दूसरी ओऱ बीजेपी के नेता हार की बात पर पर्दा डालने और हार के कारणों को अलग-अलग बजहों से छिपाते नजर आ रहे हैं। इसी कड़ी में प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर का एक बड़ा बयान सामने आया हैष जिसमें उन्होंने एक प्रतिष्ठित समाचार चेनल के साथ हुई बातचीत में हार के कारणों पर चर्चा की। 

कांग्रेस ने वीरभद्र सिंह के नाम पर वोट मांगे

इस दौरान सीएम जयराम ने कहा कि सहानुभूति के चलते हिमाचल में कांग्रेस यह उपचुनाव जीती है। उन्होंने कहा कि कुछ सीटें कांग्रेस की परंपरागत सीटें थी और इसी वजह से वह चुनाव जीते हैं। बता दें कि फतेहपुर में पिछले 15 साल से कांग्रेस जीत रही है।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः वैक्सीनेशन कैंप से लौट रहे युवा डॉक्टर की कार खाई में समाई, मौके पर टूटी सांसें

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने वीरभद्र सिंह के नाम पर वोट मांगे। इतना ही नहीं कांग्रेस ने सहानुभूति को लेकर चुनाव प्लान किया और वीरभद्र सिंह की पत्नी को मंडी सीट से प्रत्याशी के तौर पर उतारा। हालांकि, मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस को आगे भी सहानुभूति मिलती रहेगी, ऐसा नहीं होगा। 

हर चुनाव में हालात अलग होते हैं

वहीं, चुनाव में हार और कमी पर पूछे गए सवाल पर सीएम जयराम ने कहा कि हर चुनाव में हालात अलग होते हैं। परिणाम हमारे अनुरुप नहीं रहा। उन्होंने बताया कि मंडी लोकसभा सीट हम केवल 8 हजार वोटों से हारे। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में हफ्ते भर कैसा रहेगा मौसम: एक क्लिक में जानें पूरी डीटेल- यहां पर पढ़ें

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मंडी लोकसभा कांग्रेस का गढ़ रहा है। इतना ही नहीं वीरभद्र सिंह की रियासत का हिस्सा मंडी लोकसभा में पड़ता है। कमी कहां रही, इसको लेकर हमारे पास काफी समय है और हम सुधार कर सकते हैं। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस मौजूदा समय में काफी खुश है, लेकिन वह कांग्रेस पर टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने दावा किया है कि 2022 के चुनाव ऐतिहासिक होंगे और भाजपा की सरकार रिपीट होगी।

Post a Comment

0 Comments