खबर का असर: पुलिसकर्मियों का विरोध आया काम, CM संग बैठक शुरू- JCC के बाद छोड़ा था खाना

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

खबर का असर: पुलिसकर्मियों का विरोध आया काम, CM संग बैठक शुरू- JCC के बाद छोड़ा था खाना


शिमला।
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला स्थित होटल पीटरहॉफ में बीते कल JCC बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में प्रदेश सरकार ने सूबे के सरकारी कर्मियों को लुभाने के लिए कई बड़े ऐलान किए। वैसे तो सीएम ने संयुक्त सलाहकार समिति की इस बैठक के दौरान कई सारे तालियां बटोरने वाले ऐलान किए थे, लेकिन हर परिस्थिति में दिन रात एक कर जनता की सेवा के लिए तत्पर रहने वाले पुलिस कर्मी इस बैठक के फैसलों से नाखुश थे।

यह भी पढ़ें: बिग ब्रेकिंग: हिमाचल के जवान ने पत्नी संग फंदा लगाकर जान दी, पिछले साल ही हुई थी शादी

इसके बाद सरकार से खफा हुए 2015 के बाद विभाग में नियुक्तियां हासिल करने वाले कर्मियों ने पुलिस विभाग की सरकारी मेस में खाना ना खाने का फैसला कर लिया था। वहीं, इन पुलिस कर्मियों की आवाज को news4himalayans समेत सूबे के कई मीडिया संस्थान द्वारा प्रमुखता से उठाया गया था। 

बड़ा फैसला ले सकते हैं सीएम जयराम ठाकुर 

अब एक ही दिन के भीतर इस खबर का जोरदार असर देखने को मिला है। दरअसल, सरकार से नाराज हुए इन पुलिसकर्मियों को सीएम जयराम ठाकुर ने  बैठक के लिए ओक ओवर बुला लिया है। यहां मुख्यमंत्री व उच्चाधिकारियों के साथ पुलिस कर्मियों की उच्च स्तरीय बैठक चल रही है। माना जा रहा है कि इस बैठक में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पुलिस कर्मियों के लिए बड़ा फैसले ले सकते हैं। 

परिजनों ने भी बीजेपी का विरोध करने की कहती थी बात 

गौरतलब है कि JCC बैठक में सरकार द्वारा उनके हक़ में फैसला ना लिए जाने के बाद इन कर्मियों का कहना था कि जब तक उनकी जायज मांगों को स्वीकार नहीं किया जाता, तब तक विभाग की सरकारी मेस में खाना नहीं खाएंगे। इतना ही नहीं इन कर्मचारियों के परिजनों ने भी मांगों को स्वीकार ना किए जाने पर आगामी चुनाव में मतदान में हिस्सा ना लेते हुए बीजेपी का विरोध करने की बात कही थी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: चिट्टेबाज युवती का वीडियो वायरल, बोली- तेरे पैसे से नहीं कर रही नशा

ऐसे में अब इस विरोध के परिणामस्वरुप सीएम ने पुलिसकर्मियों की यह हाईलेवल मीटिंग बुलाई है। गौरतलब है कि कल हुई बैठक में पुलिस कर्मियों के प्रोबेशन पीरियड को लेकर विचार नहीं किया गया था। पूरे प्रदेश में 8 साल का प्रोबेशन पीरियड पूरा कर रहे पुलिस कर्मियों में इस बात को लेकर रोष था कि उनके बारे में सरकार ने क्यों नहीं सोचा। अब ऐसे में देखना होगा कि आज हो रही इस अहम बैठक में प्रदेश सरकार इन पुलिसकर्मियों के हित में क्या निर्णय लेती है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ