हिमाचल: लड़की को उठा कर ले जा रहा था तेंदुआ, पिता ने लगा दी छलांग- लाडली को बचाया

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: लड़की को उठा कर ले जा रहा था तेंदुआ, पिता ने लगा दी छलांग- लाडली को बचाया


सोलन।
हिमाचल प्रदेश में बीते कुछ दिनों से तेंदुओं का आतंक लगातार जारी है। हाल ही में राजधानी शिमला से 5 साल के बच्चे को उठाकर जंगल में ले जाकर उसका शिकार करने की खबर सामने आने के कुछ ही दिनों के बाद अब ताजा मामला सूबे के सोलन जिले से रिपोर्ट किया गया है। 

पिता ने लगाईं छलांग और लाठी-पत्थरों से बेटे पर करने लगा वार 

बतौर रिपोर्ट्स, यहां स्थित जाबली में गांव सूजी से लड़की को तेंदुआ उसके घर से ही घसीटता हुआ कुछ दूर खेतों तक ले गया। ऐसा होता देख मौके पर मौजूद लड़की के पिता ने हिम्मत दिखाई और खूंखार तेंदुए से खुद ही भिड़ गया और अपनी बेटी को कड़ी मशक्कत के बाद बचा लिया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: तेज रफ़्तार ट्रक ने गलत दिशा में जाकर जीजा-साले को रौंदा, एक की गई जान

बताया गया कि लड़की के पिता ने तेंदुए के पीछे छलांग लगाकर उसपर लाठी और पत्थरों से वार करना शुरू कर दिया था। इसके बाद जब शोर सुनकर अन्य घरों से भी कुछ लोग बाहर निकले और शोर मचाना शुरू किया। ऐसे में घबराया हुआ तेंदुआ लड़की को वहीं पर छोड़कर मौके से भाग निकला। 

हमले करने के आधे घंटे बाद फिर वापस लौटा था तेंदुआ 

बतौर रिपोर्ट्स, सोमवार शाम करीब सात बजे पूजा अपने घर बाहर बने शौचालय के लिए निकली थी। इस दौरान घर के आंगन में तेंदुआ पहले से ही हमले की फ‍िराक में बैठा था। मौका पाते ही खूंखार जानवर लड़की को आंगन से उठाकर ले गया। शोर मचाने पर लड़की के पिता खेम राज बाहर निकले और तेंदुए का पीछा करने लगे। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल BJP में बड़ी फूट: प्रदेश उपाध्यक्ष पद से कृपाल परमार का इस्तीफ़ा, बोले- जलालत मिली

इसके बाद खेमराज ने पत्थर व डंडों से तेंदुए पर हमला किया। अपनी जान दांव पर लगाकर पिता ने बड़ी मुश्किल से बेटी को बचाया। यदि खेमराज समय पर बाहर नहीं निकलते तो तेंदुआ लड़की को अपना शिकार बना देता। हैरान करने वाली बात यह है कि  इस घटना के करीब आधे घंटे बाद तेंदुआ फिर से खेमराज के आंगन में वापस पहुंच गया। इस दौरान ग्रामीणों ने बड़ी मुश्किल से तेंदुए को पत्थर व डंडों से भगाया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: 26 वर्षीय जिला परिषद सदस्य कविता कंटू फंदे से झूली, HPU में पढ़ती थी

वहीं, इस मामले का पता चलते ही वन विभाग के डीएफओ ने मंगलवार सुबह अपनी पूरी टीम के साथ जाबली पंचायत के सूजी गांव पहुंचे और मौके का मुआयना किया है। इस दौरान घर में पहुंची जाबली पंचायत की प्रधान भी उपस्थित रही। विभागीय टीम लड़की को मेडिकल जांच के लिए हॉस्पिटल ले गई है, ताकि किसी भी प्रकार की कोई अंदरूनी चोट तो नहीं है, इसका पता लगाया जा सके।

Post a Comment

0 Comments