हिमाचल की बेटी: दादा-पिता और भाई के बाद अब प्रियंका करेगी देश सेवा, बनी लेफ्टिनेंट

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल की बेटी: दादा-पिता और भाई के बाद अब प्रियंका करेगी देश सेवा, बनी लेफ्टिनेंट


कांगड़ा।
हिमाचल प्रदेश को देवभूमि के साथ ही साथ वीरभूमि के नाम से भी जाना जाता है। दरअसल, अगर हम सूबे का इतिहास देखें तो पाएंगें कि हिमाचल हजारों युवा देश सेवा में अपने प्राण न्योछावर कर चुके हैं और इसी तरह ढेरों सैनिक देश सेवा में आज के दिन भी जुटे हुए हैं। वहीं, अब प्रदेश के बेटों के साथ ही साथ सूबे की बेटियां भी देश सेवा में अपना योगदान देने के लिए बढ़ चढ़कर आगे आने लगी हैं. 

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश में सरकारी नौकरी: 10वीं-12वीं पास को भी मौका, जानें पूरी डीटेल

इसी कड़ी में प्रदेश के कांगड़ा जिले स्थित पालमपुर के समीपवर्ती गांव बोदा की रहने वाली प्रियंका पटियाल  भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के रूप में चयनित होकर अपने परिवार समेत पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है. बता दें कि प्रियंका अपने परिवार की तीसरी पीढी हैं, जो देश के लिए सेना में अपनी सेवाएं देने जा रही हैं. 

दादा-पिता, भाई, नाना और मामा: सब के सब सेना से जुड़े 

बतौर रिपोर्ट्स, प्रियंका के दादा भाग सिंह पटियाल भारतीय सेना से रिटायर हो चुके हैं, जबकि उनके पिता राजेंद्र सिंह पटियाल भी ऑनरेरी कैप्टन के पद पेर सेवाएं देने के बाद सेवानिवृत्त हुए हैं। इतना ही नहीं प्रियंका का भाई आदित्य पटियाल सेना में कार्यरत है।वहीं, प्रियंका के नाना भी सेना की सिग्नल कोर से सेवानिवृत्त हुए और मामा भी सिग्नल कोर में नायब सूबेदार के पद पर सेवाएं दे चुके हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: मां के साथ दुकान पर आया था 12 साल का भव्य, टैंपो के नीचे आई साइकिल- टूटी सांसें

अपनी इस उपलब्धि को लेकर प्रियंका ने बातचीत के दौरान बताया कि परिवार में अपने बड़ों में सेना के प्रति प्यार देशभक्ति को देख कर उनके मन में भी सेना में जाने की इच्छा हुई। उन्होंने इसे अपने दृढ़ संकल्प से पूरा किया है।

यहां जानें प्रियंका ने कहां से पूरी की है अपनी पढ़ाई 

प्रियंका ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा आर्मी पब्लिक स्कूल से पूरी की तथा 10वीं बरेली से और जमा 2 कक्षा की पढ़ाई मामून स्थित आर्मी पब्लिक स्कूल से पूरी की। इसके पश्चात प्रियंका ने चंडीगढ़ में सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक किया जहां से उन्हें डायरेक्ट एंट्री मिली और बेंगलुरु से एसएससीबी करके 12 नवम्बर को ओटीए चेन्नई में शामिल हुईं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: दो युवतियों के बीच हुई झड़प में चले ब्लेड, अस्पताल तक ले जाना पड़ा

20 नवम्बर को दीक्षांत समारोह के साथ ही प्रियंका ने विधिवत रूप से भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर सेवाएं देने की शपथ ग्रहण की। प्रियंका पटियाल की माता सुदेश पटियाल गृहिणी हैं। प्रियंका की दादी जमुना देवी और नानी कमला देवी ने इस सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त की है।

Post a Comment

0 Comments