हिमाचल: घर की छत पर जलकर मर गई महिला शिक्षक: मायके पक्ष ने लगाया जलाने का आरोप

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: घर की छत पर जलकर मर गई महिला शिक्षक: मायके पक्ष ने लगाया जलाने का आरोप


ऊना।
हिमाचल प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराधिक और घरेलू हिंसा के मामलों के बीच सूबे के ऊना जिले से एक बहुत ही दुखद खबर सामने आई है। यहां स्थित पुलिस थाना गगरेट के अंतर्गत आते गांव मारवाड़ी में एक महिला की घर की छत पर जलने से मौत हो गई। जान गंवाने वाली महिला एक निजी स्कूल में अध्यापिका के पद पर कार्यरत थी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: कोरोना काल में ली नर्सों से सेवाएं- कंपनी ने दिखाया बाहर का रास्ता, आंदोलन की चेतावनी

मामले का पता चलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक महिला के शव को अपने कब्जे में लेने के बाद पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, इस संबंध में मामला दर्ज कर आगामी जांच शुरू कर दी है। पुलिस द्वारा खासतौर से इस बात का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि यह आत्महत्या है या कोई साजिश के तहत की गई हत्या। 

भाई ने ससुराल पक्ष पर बहन की हत्‍या का लगाया आरोप 

वहीं, मृतका के भाई रोहित जसवाल ने ससुराल पक्ष पर बहन की हत्‍या का आरोप लगाया है। रोहित के अनुसार उसकी बहन को ससुराल पक्ष के लोग अक्सर तंग करते थे। दो बार वह और उसके पिता इनके झगड़े सुलझा कर गए थे, लेकिन बावजूद इसके और अक्सर लड़ाई होती रहती थी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: SSB में कार्यरत 46 वर्षीय ने सीढ़ियों से फंदा लगाकर दी जान, पुलिस जांच में जुटी

बकौल रोहित, उन्होंने यह सोच कर कभी ज्यादा ध्यान नहीं किया, क्योंकि घरों में मामूली झगड़े होते रहते हैं। रोहित ने कहा कि जब घटना की जानकारी दस बजे उसके पति को लगी तो मायके पक्ष को रात एक बजे क्यों बताया गया। वहीं, उसका पति और देवर घर पर थे तो उन्हें कैसे इस घटना का पता ही नहीं चला। ससुराल वालों ने जो कहानी बनाई है वो सरासर झूठी है, उन्होंने इसकी हत्या की है।

15 साल पहले हुई थी शादी- बेटी भी है 

38 वर्षीय मीनाक्षी का डंगोह खास में मायका था, उसकी शादी मारवाड़ी के अमरजीत सिंह के साथ हुई थी। शादी को करीब पंद्रह साल हो गए हैं और इनकी एक 14 वर्षीय बेटी भी है। पति की ओर से पुलिस को दिए गए बयान के अनुसार अमरजीत सिंह अम्ब में एक निजी उद्योग में नौकरी करता है और रोजाना की तरह शनिवार करीब आठ बजे वह अपने घर आया। घर के बाकी सदस्य घर से दो किलो मीटर दूर निजी मैरिज पैलेस में एक शादी में शामिल होने गए थे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: ढाबे के 32 वर्षीय कामगार ने शराब के साथ गटक लिया जहर, टूटा दम

अमरजीत के अनुसार उसने खुद ही खाना बनाया और टीवी देखने लग गया। उसे लगा कि उसकी पत्नी स्कूल के कार्य में व्यस्त है उसने अपनी बेटी को फोन किया तो उसने बताया कि मां तो घर में ही है। मीनाक्षी एक निजी स्‍कूल में अध्‍यापिका थी। अमरजीत ने करीब दस बजे पत्नी की तलाश की तो अपने ही मकान की छत पर उसे को जला हुआ पाया और वह मर चुकी थी। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल की बेटी का हरियाणा में हुआ विवाह: पत्नी को काला रंग होने का ताना व 10 लाख की FD की मांग

अमरजीत ने पूरी घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। अभी तक पुलिस को किसी भी तरह का सुसाइड नोट मृतक के घर से नहीं मिला है। शव की जांच के लिए धर्मशाला से फारेंसिक टीम को बुलाया गया है, ताकि आग कैसे लगी इसका खुलासा हो सके। पुलिस मृतका के घर से इस मामले से जुड़े हुए साक्ष्य जुटा रही है।

Post a Comment

0 Comments