हिमाचल : NDA ट्रेनिंग में लगी चोट तो घर लौट आया, अब 26 साल का जतिन बना लेफ्टिनेंट

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल : NDA ट्रेनिंग में लगी चोट तो घर लौट आया, अब 26 साल का जतिन बना लेफ्टिनेंट

मंडी : हिमाचल प्रदेश के मंडी जिला के उपमंडल सुंदरनगर के जतिन पंडित पहले चोट के कारण भारतीय सेना बाहर हो गया था। अब छह साल बाद जतिन ने अपने मेहनत के बदौलत दुबारा से भारतीय सेना में प्रवेश कर लिया है।

बीच में छोड़नी परी थी ट्रेनिंग:

बता दें कि जतिन पंडित ने वर्ष 2013 में अपनी जमा दो परीक्षा उत्तीर्ण करने के पहले ही एनडीए (NDA)की परीक्षा को उत्तीर्ण कर लिया था। जिसके बाद बतौर फ्लाइंग ऑफिसर (flying officer) ट्रेनिंग शुरू कर दी। 

वर्ष 2015 में नेशनल डिफेंस अकैडमी खड़कवासला पुणे (महाराष्ट्र) में ट्रैनिंग में घुड़सवारी के दौरान जतिन चोटिल हो गए। 6-7 माह तक अस्पताल में उपचाराधीन रहे। गंभीर चोट होने के चलते ट्रेनिंग को बीच में ही छोड़ कर घर वापस आना पड़ा। 

यह  भी पढ़ें: जनमंच : 12 साल से बिस्तर से नहीं उठा है बेटा, बुजुर्ग मां लेकर पहुंची फरियाद; मंत्री जी ने ....

सुंदरनगर वापस आने के बाद जवाहरलाल नेहरू इंजीनियरिंग कॉलेज सुंदरनगर से सिविल में बीटेक की पढ़ाई पूरी की और अब जतिन पंडित भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बन गए हैं। मात्र 26 वर्ष की आयु में जतिन पंडित ने भारतीय सेना की टेक्निकल विंग में लेफ्टिनेंट बनकर अपने परिवार सहित जिला का नाम रोशन किया है।

टेक्निकल ग्रेड एंट्री की पास की परीक्षा:

भारतीय सेना के टेक्निकल ग्रेड एंट्री परीक्षा में शानदार प्रदर्शन कर बेंगलुरु में एसएसबी परीक्षा को पास किया था। इसके बाद जतिन ने जनवरी 2021 को अपनी ट्रेनिंग को शुरू किया था। 

अब जतिन ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी चेन्नई में आयोजित पासिंग आउट परेड के बाद बतौर लेफ्टिनेंट भारतीय सेना की 11 मद्रास कार्पस ऑफ इंजीनियरिंग रेजीमेंट में अपनी सेवाएं देश को देने जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल से शादी की रस्म में शामिल होने गया शख्स: ट्रैक्टर व कार की भिडंत, 3 की गई जान- 3 चोटिल

जतिन पंडित पासिंग आउट परेड के बाद 2 सप्ताह अपने रेजिमेंट के मुख्यालय बेंगलुरु में बिताने के उपरांत पंजाब के भटिंडा में सेवा देना शुरू करेंगे। पासिंग आउट परेड के दौरान जतिन का पूरा परिवार मौजूद रहा।

Post a Comment

0 Comments