कविता कंटू की पोस्टमोर्टम रिपोर्ट आई सामने: यहां पढ़ें, 'पार्शियल हैंगिग' के कारण जमीन पर थे घुटने

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

कविता कंटू की पोस्टमोर्टम रिपोर्ट आई सामने: यहां पढ़ें, 'पार्शियल हैंगिग' के कारण जमीन पर थे घुटने


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में बीते मंगलवार सुबह 26 वर्षीय जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की लाश जंगल से पेड़ से लटकी हुई बरामद की गई थी। इस दौरान मृतका के शरीर पर किसी भी प्रकार के चोट के निशान नहीं मिले थे, लेकिन शव का धुटना जमीन से लगे होने के कारण लगातार इस बात की आशंका जताई जा रही थी कि यह मामला आत्महत्या का नहीं हत्या का है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में मिला 22 साल से लापता नरेश: 12 साल की उम्र में भाग आया था, भूल गया था सबकुछ

वहीं, दूसरी तरफ पुलिस द्वारा इस मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा था कि जिससे मौत की असल वजह स्पष्ट हो सके। वहीं, अब कविता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ गई है। जिसमें तमाम आशंकाओं पर अंकुश लगा दिया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल पुलिस को बड़ी कामयाबी: 20 लाख कैश व 7 किलो चांदी लिए पकड़ाया पंजाब का कारोबारी

शिमला की एसपी मोनिका भुटूंगरू द्वारा पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने की पुष्टि की गई है। इस रिपोर्ट में बताया गया कि कविता की मौत दम घुटने की वजह से हुई है। यानी उसने जो फंदा लगाया था वही उसकी मौत का कारण है। 

इस वजह से जमीन को छू रहे थे घुटने 

एसपी द्वारा इस मामले के संबंध में जानकारी देते हुए बताया गया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आत्महत्या की बात सामने आई है। रिपोर्ट के अनुसार जिंदा रहते हुए गले में फंदा लगाया गया था। रिपोर्ट में ये भी बताया गया था कि जमीन पर जो घुटने लगे हुए हैं उसे ‘पार्शियल हैंगिग’ कहा जाता है। 

यह भी पढ़ें: HRTC बस के नीचे आया 8 साल का स्कूली बच्चा, दोनों टांगों पर से गुजरी गाड़ी; वीडियो वायरल

गौरतलब है कि मृतका के शरीर पर किसी भी तरह के चोट व मारपीट के निशान नहीं पाए गए थे। मृतका के शरीर पर ऐसे निशान भी नहीं थे जिससे ये स्पष्ट हो सके की मौत से पहले स्ट्रगल किया हो। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: डीएफओ हेड क्वार्टर मंडी ने सुबह-सवेरे झील में लगा दी छलांग, देह बरामद

जबकि मृतका की गले की हड्डी टूटी हुई थी और मुंह से लार निकल हुई थी। इतना ही नहीं मृतका की जीभ दांतो से कटी हुई थी। प्रथमदृष्टया यह सब बातें आत्महत्या के संकेत दे रहे थे। वहीं, पुलिस जांच में भी ये सामने आया है कि कविता किसी मानसिक दबाव में भी थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ