हिमाचल: जिप. सदस्य कविता की मौत मामले में नया ट्विस्ट, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ये हुए खुलासे..!

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल: जिप. सदस्य कविता की मौत मामले में नया ट्विस्ट, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ये हुए खुलासे..!


शिमला।
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के अंतर्गत आते समरहिल इलाके के जंगल में फंदे से लटकी मिली 26 वर्षीय जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की मौत के मामले में एक के बाद एक रोचक ट्विस्ट आ रहे हैं। इसकी वजह से यह मामला लगातार उलझता चला जा रहा है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश के ट्रस्ट का क्लोन चेक देकर 2.4 करोड़ हडपने चले थे 9 शातिर, पकड़े गए

कविता की मौत के बाद पहले तो उसके कमरे से एक नोट बरामद हुआ, जिसमें उसने Sorry to everyone, Love you Dad! (सभी को सॉरी, लव यू पापा!) लिखकर मामले को और अधिक उलझा दिया। वहीं, अब सामने आई पोस्टमोर्टम रिपोर्ट में हुए खुलासों ने इस मामले की गुत्थी को और अधिक पेचीदा बना दिया है। 

यहां जाने पोस्टमोर्टम रिपोर्ट में क्या आया सामने 

सूत्रों के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि कविता की मौत गर्दन की हड्डी टूटने से हुई है। हालांकि यह हत्या थी या हादसा यह स्पष्ट नहीं हो पाया। यह भी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि युवती ने फांसी लगाई या फांसी पर लटकाया गया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: जहर खाने के बाद बिगड़ी तबीयत-अस्पताल ले जाने पर भी नहीं बचा

विशेषज्ञों की कमेटी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का अध्ययन करेगी। विशेषज्ञों के अनुसार फांसी पर लटकने से गर्दन की पीछे की हड्डी और नसें काफी खिंच जाती हैं और कई बार टूट भी जाती हैं। वहीं हत्या में भी यही बात लागू हो सकती है। लिहाजा मौत का कारण साफ नहीं हो पाया है।

लटक रही युवती के पैर जमीन को छू रहे थे

वहीं, घटनास्थल पर पाया गया है कि फंदे पर लटक रही युवती के पैर जमीन को छू रहे थे। ऐसे में लोग ये कह रहे हैं कि यह मामला सुसाइड का नहीं हो सकता है। वहीं, इस पूरे मामले को लेकर कविता के करीबियों का कहना है कि वह काफी खुशमिजाज थी और सुसाइड नहीं कर सकती थी। 

कांग्रेस ने उठाई मामले की जांच की मांग 

उधर, इस मामले से अब प्रदेश का सियासी पारा भी गरमाने लगा है। विपक्षी दल कांग्रेस ने इस घटना के पीछे साजिश होने की आशंका जताई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने इस दुखद घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए सरकार से इसकी जांच करवाने की मांग की है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल वीडियो वायरल: कॉलेज में भिड़ी दो छात्राएं, जमकर चले लात-घूसे

उन्होंने कहा कि यह बहुत ही दुःखद है कि एक जन प्रतिनिधि को कथित तौर पर आत्महत्या करनी पड़ी हो। यह कोई गहरी साजिश भी हो सकती है, लिहाजा इस मामलें की निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए, जिससे पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके और दोषी को कड़ी सजा।

Post a Comment

0 Comments