हिमाचल के शख्स को 1 लाख डॉलर का झांसा देकर शातिरों ने ठगे 10.98 लाख रुपए, ऐसे बुना जाल

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल के शख्स को 1 लाख डॉलर का झांसा देकर शातिरों ने ठगे 10.98 लाख रुपए, ऐसे बुना जाल


सोलनः
हिमाचल प्रदेश में शातिरों द्वारा ऑनलाइन ठगी कर एक व्यक्ति को करीब 10.98 लाख रुपए का चूना लगाने का मामला सामने आया है। यह घटना सोलन जिले के बद्दी क्षेत्र की है, जिसकी शिकायत पीड़ित शख्स ने पुलिस में दी। 

पोलैंड की दोस्त ने गिफ्ट के बहाने लगा दिया चूना 

मिली जानकारी के मुताबिक कमल राज निवासी बद्दी की एक फेसबुक फ्रेंड थी जो पोलैंड में रहती है। जिसका फोन नंबर तक उसके पास है। इस दौरान नवंबर के पहले हफ्ते में कमल की पोलैंड की दोस्त ने कहा कि उसने उसे एक गिफ्ट भेजा है। 

एक एक बाद एक अलग-अलग तरीके से मांगे पैसे और देता गया कमल 

वहीं, कुछ दिन बीतने के बाद कमल को एक नबंर से फोन आता है। फोन करने वाला खुद को एयरपोर्ट से बताकर कहता है कि उनका पोलैंड से कुरियर आया है। जिसके क्लीयरेंस चार्जेज 40 हजार रुपए हैं। जो उन्हें जमा करवाने होंगे। इसके बाद कमल राज ने 40 हजार रुपए की ऑनलाइन पेमेंट कर दी।

यह भी पढ़ें: JCC बैठक शुरू: कर्मचारियों को तोहफा देने पहुंचे CM जयराम, सुनें Live संबोधन

इस बीच कुछ देर बाद उसे दोबारा एयरपोर्ट वाले नबंर से फोन आता है। जो कहता है कि पार्सल की स्कैनिंग में सामने आया है कि इसमें 1 लाख डॉलर कैश है जोकि भारतीय कानून के खिलाफ है। इसके साथ ही वह कहता है कि यह करंसी विदेशी बैंक की भारत शाखा में जमा होगी और इंडियन करेंसी में आपको लगभग 74 लाख रुपए की पेमेंट होगी।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः पति के दुकान का मालिक घर में आ धमका, फाड़ दिए महिला के कपड़े- चिल्लाई तो जूते मारे

इसके बाद एक महिला का फोन कमल को आता है जो खुद को बैंक की कर्मी बताते हुए कहती है कि 1 लाख डॉलर के कन्वर्जन चार्जेज 75 हजार और 2.54 लाख है। वे इसे जमा करवा दें इसके बाद 74 लाख रुपए उनके खाते में आ जाएंगे। शातिरों के झांसे में आकर कमल ने एक बार फिर ऑनलाइन माध्यम से पेमेंट कर उक्त धनराशि जमा कर दी। 

यह भी पढ़ें: HC के वकील-RTI कार्यकर्ता 'जिंदान' की हत्या मामले में दो को आजीवन कारावास, 1 को 3 साल..

इसके बाद दोबारा महिला का फोन कमल को आता है वह कहती है कि 74 लाख रुपए का 12,82,700 टैक्स जमा करना होगा। इस पर कमल कहते हैं कि उनके पास पैसे नहीं हैं। तब शातिर एक बार फिर उसे एयरपोर्ट के नाम से फोन करते हैं और कहते हैं कि 7.5 लाख रुपए की में करता करता हूं बाकी टैक्स की रकम अदा कर दो। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में सरेआम रंगबाजी: लड़की को छेड़ा, मना करने पर पीट दिया; आंख-कोहनी पर आई चोटें

शातिरों की बात में आकर कमल ने 17 नबंवर को 2,82,700 रुपए और 18 नबंवर को 2.5 लाख रुपए जमा करवा दिए। इसके बाद कमल को बैंक की महिला का दोबारा फोन आता है वह कहती हैं कि उसको एंटी टेररिस्ट सर्टीफिकेट लेना होगा, जिसके लिए उसे 1,99,200 जमा करवाने होंगे। 20 नबंवर को फिर बैंक वाली महिला का फोन आता है जो कहती है कि उन्हें कोरियर से एटीएम कार्ड भेजा है। सारा पैसा उसमें जमा है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल HC का फैसला: अब बीएड करने वाले भी बनेंगे JBT, सरकार को संशोधन का आदेश

22 नबंवर को उसे एटीएम व पिन मिला और फोन पर कहा कि 10 हजार रुपए निकाल कर देखो कि ट्रांजैक्शन हो रहा है या नहीं, जिस पर बैंक की ओर से एक बार फिर कमल को कॉल आता है वह कहते हैं कि आपका एटीएम कार्ड ब्लॉक कर दिया गया है। इसके बाद उन्हें कहा जाता है कि कार्ड को एक्टिव कराने के लिए उन्हें पहले 11,80,000 रुपए जमा करवाने होंगे। इसके बाद ही उन्हे पूरी धनराशि मलेगी। 

इतना सब होने के बाद हुआ शक 

इतना सब होने के बाद जब कमल राज को शक हुआ और उसने इस घटना की जानकारी पुलिस में दी। कमल का कहना है कि इस पूरी घटना के बीच उससे करीब 10.97 लाख रूपए की ठगी कर ली गई। वहीं, इस मामले की पुष्टि करते हुए डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह ने बताया कि पुलिस द्वारा पीड़ित की शिकायत पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर दिया गया है। साथ ही पुलिस मामले की जांच करने में लगी हुई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ