हिमाचल उपचुनाव का असर, तीनों काले कानून वापस: विक्रमादित्य बोले- लंबे समय के बाद खुलीं मोदी..

Ticker

6/recent/ticker-posts

हिमाचल उपचुनाव का असर, तीनों काले कानून वापस: विक्रमादित्य बोले- लंबे समय के बाद खुलीं मोदी..


शिमला।
आज गुरु पर्व के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन में माफी मांगते हुए तीनों कृषि कानून वापस लेने का सुबह-सवेरे ऐलान किया। इस एलान के साथ ही देश भर के राजनीतिक गलियारों में जहां उथल-पुथल का माहौल पैदा हो गया है। इस बीच कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने केंद्र सरकार द्वारा किसानों पर थोपे गए तीन कृषि कानूनों को रद्द करने के फैसले का स्वागत करते हुए इसे किसानों की जीत बताया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में ना सीएम बदलेगा ना मंत्रिमंडल में किया जाएगा कोई फेरबदल: मंत्री का बड़ा दावा

विक्रमादित्य सिंह ने मोदी सरकार के ऐलान को हिमाचल उपचुनाव से जोड़ते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि हिमाचल उपचुनाव का असर, तीनों काले कानून वापस। उन्होंने कहा कि लंबे समय के बाद मोदी सरकार की आंखें खुलीं। एक साल से अधिक समय तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन आंदोलनरत किसानों से बात तक नहीं की और आज एकाएक दूरदर्शन पर प्रकट होकर उन्होंने इन तीनों कानूनों को रद्द करने की घोषणा की।

अब कोई राजनीतिक लाभ नहीं मिलेगी

उन्होंने कहा कि अब जब 5 राज्यों में चुनाव की बेला शुरू होने वाली है तो ऐसे में उन्होंने तीन कृषि कानूनों को रद्द कर राजनीतिक लाभ लेने का जो प्रयास किया है उसमें उन्हें अब कोई सफलता नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हुए चार उपचुनाव परिणामों के बाद देश में भाजपा को जो झटका लगा है उसके बाद डीजल, पेट्रोल के मूल्यों में कमी के बाद किसानों पर थोपे तीन कृषि कानून रद्द कर देश में लोगों के गुस्से को शांत करने का यह असफल प्रयास है।

यह भी पढ़ें: कृषि कानूनों की वापसी पर जयराम की चुप्पी: ज्यादा टिप्पणी से इंकार, बोले-मोदी के हर फैसले का स्वागत

विक्रमादित्य सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि प्रदेश में हुए उपचुनावों परिणामों के बाद उन्हें देश-प्रदेश में लोगों की समस्याएं नजर आने लगी हैं। उन्होंने कहा कि इससे साफ है कि मोदी सरकार ने हमेशा ही स्वार्थ की राजनीति कर देश के लोगों को गुमराह किया। 

Post a Comment

0 Comments