विधानसभा: सरकार के बहुमत पर विपक्ष को यकीन नहीं, सदन में रखा अविश्वास प्रस्ताव- हुआ ख़ारिज

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

विधानसभा: सरकार के बहुमत पर विपक्ष को यकीन नहीं, सदन में रखा अविश्वास प्रस्ताव- हुआ ख़ारिज


धर्मशाला।
आज धर्मशाला के तपोवन में हिमाचल विधानसभा का शीत सत्र शुक्रवार से सुबह 11:00 बजे शुरू हो गया। इस सब के बीच विधानसभा से सबसे बड़ी खबर यह है कि विपक्ष ने सदन में अविश्वास प्रस्ताव रखा है। 

यह भी पढ़ें: सवर्ण आयोग की मांग बनी आंदोलन-उमड़ा जनसैलाब: विधानसभा के बाहर घमासान, भारी बल तैनात

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, रामलाल ठाकुर, जगत सिंह नेगी, नंद लाल और शांडिल समेत कुल 7 नेताओं ने यह प्रस्ताव सदन में रखा है। इस दौरान अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार ने अपना विश्वास खो दिया है। उपचुनाव में भाजपा चारों सीटों पर हार गई। 

इस वजह से खारिज हुआ अविश्वास प्रस्ताव

वहीं, सदन में प्रस्ताव पेश होते ही खारिज कर दिया गया। विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार ने नियमों का हवाला देकर चर्चा की अनुमति नहीं दी। विपिन परमार ने कहा कि नियमानुसार कांग्रेस के 23 सदस्य सदन में होने चाहिए। इस नियम का हवाला देकर प्रस्ताव निरस्त कर दिया गया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: नशे के जाल में फंसती युवतियां- मोहसिन और ननिका के पास से चरस की बड़ी खेप बरामद

मौके पर कांग्रेस के 23 में से 18 सदस्य सदन में थे। कांग्रेस विधायकों ने सदन में चर्चा क्यों नहीं होती के नारे लगाना शुरू कर दिए। इस पर विपक्ष ने वॉकआउट कर दिया। 

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस के सदन में 22 सदस्य हैं और उन्हें माकपा सदस्य का समर्थन मिला है। एक तिहाई सदस्य होने के बावजूद वो प्रस्ताव खारिज किया गया।

इससे पहले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने विधानसभा के तीन पूर्व सदस्यों बोध राज, गुरमुख सिंह बाली व डॉ। शिव कुमार के लिए शोकोद्गार प्रस्ताव रखा। इसके अलावा सीएम जयराम ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत व हिमाचल के सपूत लांस नायक विवेक कुमार को श्रद्धांजलि दी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ