हिमाचल में बड़ी धांधली: नौकर के नाम कर रखी थी पूरी कंपनी और चल रहा था ड्रग्स का काला धंधा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल में बड़ी धांधली: नौकर के नाम कर रखी थी पूरी कंपनी और चल रहा था ड्रग्स का काला धंधा


शिमलाः
हिमाचल नारकोटिक्स ब्यूरो की टीम ने ड्रग्स सप्लाई केस में बड़ा खुलासा किया है। बता दें कि डब्ल्यूबी मेडिकोज कंपनी का मालिक अपने नौकर की आड़ में में ये काला धंधा चला रहा है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में गजब हॉस्पिटैलिटी: समस्या आज है अल्ट्रासाउंड 'मई' में होगा, दी 5 माह बाद की डेट

इस संबंध में जब टीम जांच के लिए राजस्थान के सीकरी स्थित आरोपी कंपनी के मालिक के घर पहुंची तो वह पता उसका निकला ही नहीं, यह पता एक झोपड़ी का था। जब टीम ने जांच की तो पाया कि झोपड़ी में रहने वाला शख्स कंपनी में नौकर के तौर पर काम करता है। 

सारे सर्टिफिकेट भी नौकर के नाम पर 

इतना ही नहीं जांच के दौरान सामने आया है कि डब्ल्यूबी मेडिकोज कंपनी के मालिक ने अपने सारे सर्टिफिकेट भी नौकर के नाम पर बना रखे हैं। फिलहाल आरोपित कंपनी का मालिक व नौकर दोनों ही फरार हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल- बड़ा खुलासा: शिक्षा विभाग के क्लर्क की हुई थी हत्या, दो अरेस्ट- नाले से मिली थी देह

बता दें कि यह बहुचर्चित प्रकरण बद्दी स्थित एक फार्मा कंपनी में सीआईडी टीम की छापेमारी के दौरान सामने आया था। इस पर टीम द्वारा एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच की जा रही थी। 

सप्प्लाई का पता भी था गलत 

जांच के दौरान टीम ने पाया कि नकली बिलों के आधार पर ड्रग्स की सप्लाई की जा रही है। इतना ही नहीं जहां इन्हें सप्लाई किया जा रहा है उसकी हकीकत तो कुछ और ही है। दरअसल, वहां इनकी सप्लाई हो ही नहीं रही है। 

यह भी पढ़ें: काशी में सीएम जयराम ने पत्नी के साथ प्रधानमंत्री मोदी से की भेंट, PM ने सभी CM को दी ये नसीहत

इस पर सीआईडी टीम को ड्रग्स सप्लाई केस में बड़े खेल का अंदेशा हुआ। इसके बाद कड़ी दर कड़ी जोड़ते हुए टीम द्वारा जांच तेज कर दी गई। वहीं, अब मामले में संलिप्त कई कंपनियों के खुलासे हो रहे हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ