घूसखोर SHO अब तक नहीं पकड़ाया: SIT गठित, विजिलेंस के रडार पर आए कई विभाग

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

घूसखोर SHO अब तक नहीं पकड़ाया: SIT गठित, विजिलेंस के रडार पर आए कई विभाग


हमीरपुरः
हिमाचल प्रदेश में घूस लेते हुए पकड़े गए एसएचओ नीरज राणा को काबू करने के लिए पुलिस विभाग की ओर से एक विशेष टीम का गठन किया गया है। बता दें कि नीरज राणा कुछ दिन पहले रिश्वत लेते हुए विजिलेंस द्वारा रंगे हाथ पकड़ाए जाने के बाद मौके से फरार हो गए थे। 

दर्ज हुए हैं तीन-तीन केस 

इस दौरान उन्होंने टीम पर अपनी गाड़ी चढ़ाने तक का प्रयास भी किया था परंतु विजिलेंस के कर्मियों ने तत्परता दिखाते हुए मौके से कूदकर अपनी जान बचाई थी। इसके बाद से ही पुलिस द्वारा एचएचओ नीरज राणा के खिलाफ रिश्वत लेने व हत्या का प्रयास करने के संबंध में मामला दर्ज कर उसे पकड़ने का प्रयास किया जा रहा है। 

वहीं, बाद में जांच के दौरान नीरज की गाडी से चिट्टा भी बरामद हुआ था, जिसके बाद उनपर NDPS एक्ट के तहत भी केस दर्ज कर दिया गया था।

SP ऊना भी कर रहे तलाश में मदद 

वहीं, अब इस संबंध में पुलिस मुख्यालय द्वारा दिए गए निर्देशों पर हमीरपुर पुलिस ने आरोपित को पकड़ने के लिए एसआईटी गठित कर दी है। इसके साथ ही मुख्यालय की ओर से एसपी ऊना को भी आरोपित को पकड़ने के लिए हमीरपुर पुलिस का सहयोग करने के आदेश दिए हैं। 

हाई लेवल मीटिंग भी हुई, डीजीपी सख्त 

इतना ही नहीं मुख्यालय की ओर से फरार चल रहे एसएचओ की संपत्तियों की जांच के लिए एसपी ईओडब्ल्यूडी सहित प्रवर्तन निदेशालय को भी बयोरा भेजने को कहा गया है। इसके अलावा उन्होंने वर्तमान में सभी जिलों में सेवारत एसएचओ की सालाना संपत्ति संबंधित जानकारी भी प्रोवाइड करवाने को कहा गया है। 

बता दें कि हमीरपुर स्थित नादौन पुलिस थाना के एसएचओ नीरज राणा के फरार होने के बाद डीजीपी ने सभी जिलों के एसपी, रेंज आईजी और SHO के साथ वीसी के जरिए बैठक की। 

इस मीटिंग के दौरान उन्होंने कड़ा रुख अपनाते हुए जिलों के एसपी को निर्देश दिए कि वह किसी भी पुलिस अधिकारी को किसी नेता की सिफारिश पर ना लगाकर उनकी मेरिट और कार्यशैली को तवज्जो दे।

अन्य विभाग भी आए विजिलेंस की रडार पर 

वहीं, बीते कुछ समय से स्टेट विजिलेंस द्वारा भ्रष्टाचारी कर्मियों पर कड़ा एक्शन लिया गया है और अभी भी विभाग की नजरें उन अधिकारियों पर बनी हुई है जो करप्शन करते हैं। 

हाल ही में हमीरपुर के नादौन पुलिस थाना के एसएचओ के खिलाफ हुई कार्रवाई के बाद विजिलेंस की ओर से ताजा निर्देश जारी किए हैं, जिसके अंतर्गत कोई भी व्यक्ति भ्रष्टाचार के खिलाफ शिकायत कर सकता है। 

इतना ही नहीं विभाग की ओर से भरोसा दिलाया गया है कि इस तरह की सूचना देने वाले का नाम सार्वजिनक नहीं किया जाएगा। इसे पूर्ण तरीके से गोपनीय रखा जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ