घूसखोर SHO हुआ निलंबित: 24 घंटे से है गायब, सीमाएं सील- खोज में मारे जा रहे छापे

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

घूसखोर SHO हुआ निलंबित: 24 घंटे से है गायब, सीमाएं सील- खोज में मारे जा रहे छापे


शिमला।
विजिलेंस टीम को गाड़ी से रौंदने का प्रयास कर रिश्वत के 25 हजार रुपए लेकर फरार आरोपी एसएचओ नीरज राणा को निलंबित कर दिया गया है। 

मवेशियों को पठानकोट ले जाने की परमिशन देने के बदले रिश्वत मांगने वाले नादौन थाने के प्रभारी नीरज राणा बीते 24 घंटे से भी अधिक समय से पुलिस की पकड़ से बाहर चल रहे हैं। 

योगराज बने नए एसएचओ, हाईकोर्ट जा सकता है आरोपी 

वहीं, उन्हें निलंबित करने के बाद योगराज चंदेल नादौन थाने के नए एसएचओ नियुक्त किए गए हैं। आरोपी के खिलाफ विभागीय जांच भी बिठाई गई है। 

आरोपी नीरज राणा की तलाश में विजिलेंस और पुलिस की टीमें जुटी हुई हैं। माना जा रहा है कि आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी लगा सकता है। 

घटना के बाद थाना प्रभारी की तलाश की जा रही है और उनके घर के आसपास भी पुलिस तलाश करके जिला की सीमाएं सील कर दी गई हैं।

कौन है नीरज राणा यहां जानें 

आरोपित नीरज राणा ऊना जिला के हरोली का रहने वाला है और 2010 में बतौर सब इंस्पेक्टर भर्ती हुआ था। उसका प्रोवेशन ट्रेनिंग पीरियड भी हमीरपुर व नादौन थाने में ही कटा है। 

इसके बाद वह विजिलेंस विभाग शिमला में भी नियुक्त हुआ। बाद में कांगड़ा जिले के जवाली में बतौर थाना प्रभारी तैनात रहा। 2020 में नीरज राणा नादौन थाने का प्रभारी तैनात हुआ।

अब घूस लेने और और विजलेंस टीम पर गाड़ी चढाने का प्रयास करने पर आरोपी नीरज राणा के खिलाफ दो धाराओं के तहत मामले दर्ज हुए हैं। एक मामला हत्या करने का प्रयास का है और दूसरा रिश्वत लेने पर भ्रष्टाचाररोधक अधिनियम के तहत दर्ज हुआ है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ