हिमाचल कांग्रेस में गुटबाजी हावी: 10 विधायक लेकर सुक्खू पहुंचे दिल्ली, उठाई ये मांग

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल कांग्रेस में गुटबाजी हावी: 10 विधायक लेकर सुक्खू पहुंचे दिल्ली, उठाई ये मांग


शिमलाः
हिमाचल प्रदेश में अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं। इस बीच प्रदेश के विपक्षी दल यानी कांग्रेस पार्टी में गुटबाजी के चलते एक बार फिर राजनीतिक हलचल बढ़ गई है। हाल ही में हुए उपचुनावों में बीजेपी को क्लीन स्वीप करने के बाद पार्टी के हौसले तो बुलंद हैं, लेकिन इस बीच सामने आ रही गुटबाजी की ख़बरें पार्टी को भीतर से चोट पहुंचा सकती हैं.

यह भी पढ़ें: मिल गया हिमाचल का नेवी जवान: विशाखापट्टनम में हुआ था लापता, परिजनों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं

दरअसल, कांग्रेस के प्रदेश नेतृत्व में बदलाव हेतु पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू दल के 10 विधायकों ने दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रभारी राजीव शुक्ला से मुलाकात की है। बता दें कि इससे पहले खुद सुक्खू भी राजीव शुक्ला से मिल चुके हैं। 

सुक्खू को नेता विपक्ष या प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग 

मिली जानकारी के मुताबिक ऊना से विधायक सतपाल रायजादा, नालागढ़ से लखविंदर राणा, किन्नौर से जगत सिंह नेगी, कांगड़ा से पवन काजल, जुब्बल-कोटखाई से रोहित ठाकुर, कुल्लू से सुंदर ठाकुर, अर्की से संजय अवस्थी व कुसुम्पटी से अनिरुद्ध सिंह ने राजीव शुक्ला से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने पार्टी में कुछ अहम बदलाव करने की बात कही। 

यह भी पढ़ें: हिमाचलः ट्रक से टकराकर सुलग उठी बाइक, 2 की गई जान; एक का साल भर पहले ही हुआ था विवाह

इतना ही नहीं उन्होंने पार्टी को और ज्यादा मजबूत बनाने के लिए बदलाव की मांग करते हुए सुक्खू को नेता विपक्ष या प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग भी की। सुक्खू गुट के विधायकों के इस एक्शन के बाद अब दूसरे दल में भी मोहौल गरमा गया है और वे ये जानने में लगे हुए हैं कि और किन-किन विधायकों ने राजीव शुक्ला से मुलाकात की। बता दें कि सुखविंदर सिंह सुक्खू ऑपरेशन करवाने के बाद कुछ समय से दिल्ली में ही उपचाराधीन हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ