हिमाचल: ब्लास्टिंग के दौरान पति-पत्नी और बच्चे पर गिरा मलबा, नीचे दबे- हालत गंभीर

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: ब्लास्टिंग के दौरान पति-पत्नी और बच्चे पर गिरा मलबा, नीचे दबे- हालत गंभीर


सिरमौर।
हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 707 के निर्माण कार्य में ब्लास्टिंग के दौरान की लापरवाही एक परिवार पर भारी पड़ गई। सड़क निर्माण का कार्य कर रही निजी कम्पनी द्वारा जोरों शोरों से चलाए जा बारूदी ब्लास्टिंग के काम के दौरान सड़क से गुजर रहे एक मोटरसाइकल सवार दम्पति और उनका बच्चा मलबे की चपेट में आ गए। इस हादसे में तीनों ही जख्मी हुए बताए जा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: शोकसभा में जा रही महिलाओं का वाहन खाई में गिरा, दो की मौत व 25 घायल- 7 गंभीर

बताया गया कि दम्पति और उनका बच्चा मोटरसाइकल पर सवार होकर अणु से विकासनगर की तरफ जा रहे थे, तभी वे मीनस के समीप अचानक ही बारूदी ब्लास्टिंग के मलबे के नीचे दब गए। बताया गया कि मलबा गिरने से उठा धूल का गुबार थमने के बाद जब देखा गया तो नीचे एक दम्पति और उनका बच्चा अचेत हालत में पड़े मिले। यह नजारा देखने के बाद निर्माण कार्य में लगे निजी कम्पनी का स्टाफ़ घटनास्थल से भाग खड़े हुए। 

इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर किए गए घायल 

घायलों की पहचान मुस्तफ़ा (31), नूर बानों (30) व रज़ाक़ (2) के रूप में की गई है, जिन्हें इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रोनहाट में प्राथमिक उपचार देने के बाद आगामी इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर किया गया है। घायल हुए लोग उत्तराखंड के अणु क्षेत्र के निवासी बताए जा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल की फीमेल हेल्थ वर्कर संजोग नेगी को सलाम: 31 हजार को लगाया कोविड टीका

वहीं, घटनास्थल के आसपास मौजूद लोगों द्वारा इस बारे में बताया गया कि बारूदी ब्लास्टिंग से पहले सड़क के एक छोर पर निर्माण कार्य कर रही निजी कम्पनी द्वारा एक चौकीदार तैनात किया गया था। मगर सड़क के दूसरे छोर पर वाहनों को रोकने के लिए किसी को भी तैनात नहीं किया गया था, जिसके चलते ब्लास्टिंग के दौरान हादसे से अनजान वाहन सड़क पर लगातार चल रहे थे और इसी दौरान यह हादसा पेश आया। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ