हिमाचल कई जिलों में होगी बारिश और बर्फबारी: इन दो दिनों के लिए अलर्ट, जानें डिटेल्स

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल कई जिलों में होगी बारिश और बर्फबारी: इन दो दिनों के लिए अलर्ट, जानें डिटेल्स

शिमला : हिमाचल प्रदेश में ठंड शुरू होने के साथ ही मौसम का कहर शुरू हो गया है। ऊपरी क्षेत्रों में बर्फबारी तो वहीं लोअर हिमाचल के मैदानी क्षेत्रों में भी कोहरा पड़ना शुरू हो गया है। साथ ही प्रदेश के अधिकतम तापमान में सामान्य से चार डिग्री की कमी भी दर्ज हुई है।

बर्फबारी का पूर्वानुमान:

बता दें कि सोमवार सुबह कई जिलों में सुबह 11 बजे तक कोहरा छाया रहा। राजधानी शिमला सहित कई क्षेत्रों में सोमवार को दिन भर बादल भी छाए रहे। हालांकि, मंगलवार और बुधवार को मौसम साफ रहने की संभावना है। सोमवार को प्रदेश में 46 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही ठप रही।

मौसम विभाग ने 16 और 17 दिसंबर को कई स्थानों में बर्फबारी और बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है। इस बीच मौसम बिगड़ने के कारण लाहौल-स्पीति जिले के लोगों को बर्फबारी के चलते दुश्वारियों का सामना करना पड़ रहा है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल की आवाज बनना पड़ा 'आप' को भारी: पुलिस से हुई झड़प बरसी लाठियां

जिले में सबसे अधिक 44 सड़कें प्रभावित चल रही हैं। इसके अलावा कुल्लू और चंबा में एक-एक सड़क बंद है। लाहौल-स्पीति में पीने के पानी की 51 योजनाएं भी प्रभावित चल रही हैं। सोमवार को राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में बादल छाए रहे।

तापमान का हाल:

ऊना में अधिकतम तापमान 22.0, कांगड़ा में 20.0, बिलासपुर में 19.5, भुंतर में 19.0, नाहन-सुंदरनगर में 18.7, हमीरपुर में 18.3, चंबा में 17.6, धर्मशाला में 16.6, शिमला में 12.6, कल्पा में 9.9, डलहौजी में 5.5 और केलांग में 5.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।

उधर, रविवार रात को केलांग में न्यूनतम तापमान माइनस 5.6, कल्पा में माइनस 1.6, मनाली में 0.6, कुफरी में 2.2, भुंतर में 2.4, सुंदरनगर में 2.7, चंबा में 2.8, सोलन में 3.3, शिमला में 4.6, ऊना में 5.0 और धर्मशाला में 5.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: भाई से कहा घर छोड़ कर जा रहा हूं और पावर हाउस की नहर में कूद गया

न्यूनतम तापमान में कमी आने से प्रदेश सुबह और शाम के समय शीतलहर की चपेट में आ गया है। जिला मंडी के बल्ह क्षेत्र में सोमवार सुबह कोहरे के कारण बाजार 11 बजे खुले। वाहन चालकों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ