जयराम कैबिनेट: जॉब-रोजगार और स्कूलों को लेकर प्रदेश सरकार ने लिए यह निर्णय

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

जयराम कैबिनेट: जॉब-रोजगार और स्कूलों को लेकर प्रदेश सरकार ने लिए यह निर्णय


शिमला।
हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में आज कई अहम् फैसले लिए गए हैं। वहीं, इस खबर में हम आपको सरकार द्वारा लिए गए जॉब रोजगार और स्कूल से जुड़े फैसलों के बारे में जानकारी दे रहे हैं। 

कैबिनेट ने श्री नैना देवी जी विधानसभा क्षेत्र के बस्सी स्थित आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केन्द्र को 15 बिस्तरों वाले आयुर्वेदिक चिकित्सालय में स्तरोन्नत करने के साथ ही इस अस्पताल के संचालन के लिए विभिन्न श्रेणियों के 12 पदों को भरने और भरने का निर्णय लिया।

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग में निरीक्षक के तीन पदों को सीधी भर्ती के माध्यम से अनुबंध के आधार पर भरने की स्वीकृति प्रदान की। यह पद अनुबंध के आधार पर भरे जाएंगे।

हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा के पांच पदों को हिमाचल प्रदेश संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा-2021 के माध्यम से नियमित आधार पर भरने की स्वीकृति प्रदान की गई। 

बैठक में मंडी जिले के मंझास, काऊ, जम्हो जालों, टिंब्रू, नलानी और करसोग क्षेत्र के मशोग को मिडल स्कूल में अपग्रेड करने का  निर्णय लिया गया। इन स्कूलों में विभिन्न श्रेणियों के 18 पदों के सृजन और भरने की भी मंजूरी दी।

बैठक में सोलन जिले के लोहारघाट स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्तरोन्नत करने के साथ ही इस स्वास्थ्य संस्थान के लिए विभिन्न श्रेणियों के पदों के सृजन का भी निर्णय लिया। 

यह भी पढ़ें: जयराम कैबिनेट: सरकारी खजाने पर सालाना 4000 करोड़ अतिरिक्त बोझ, वेतनमान से जुड़ी अहम् बातें

बैठक में विभिन्न श्रेणियों के 12 पदों के सृजन एवं भरने के साथ-साथ मंडी जिले की बलद्वारा तहसील के अंतर्गत ढालवां में नई उप तहसील खोलने का भी निर्णय लिया। 

कैबिनेट ने इन मार्गों पर 18 सीटर वाहनों को रियायती कर दरों पर चलाने की अनुमति देने के लिए स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार (परिवहन) योजना के मसौदे को अपनी सहमति प्रदान की। यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों को गतिशीलता प्रदान करेगी और ग्रामीण युवाओं को रोजगार भी प्रदान करेगी।

कैबिनेट ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गग्गल शिकोर को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्तरोन्नत करने और सिरमौर जिले के पनोग, जरवा और चांदनी में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने के साथ-साथ इन स्वास्थ्य संस्थानों के संचालन के लिए विभिन्न श्रेणियों के विभिन्न पदों को सृजित करने और भरने का भी निर्णय लिया। 

बैठक में कांगड़ा जिले के डॉ. राजेंद्र प्रसाद राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय टांडा में सामान्य शल्य चिकित्सा विभाग के अधीन अपेक्षित पदों के सृजन के साथ एक अलग गुर्दा/गुर्दा प्रतिरोपण प्रकोष्ठ स्थापित करने को भी स्वीकृति प्रदान की।

वहीं, मंडी जिले के श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल नेरचौक स्थित ट्रॉमा सेंटर में विभिन्न श्रेणियों के विभिन्न पदों के सृजन व भरने को अपनी स्वीकृति प्रदान की। 

बैठक में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला करसोग क्षेत्र के महोग, मंडी जिले के कामद एवं कुल्लू जिले के बंजार क्षेत्र के गुशैनी में विज्ञान की कक्षाएं तथा सोलन जिले के अर्की क्षेत्र के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बथलंग में वाणिज्य की कक्षाएं शुरू करने को अपनी स्वीकृति प्रदान की। इन विद्यालयों के विद्यार्थियों की सुविधा के लिए मंडी जिले के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों सियानजी, बग्गी, नगवैन, सेरी कोठी और तालयार में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने का निर्णय लिया।

यह भी पढ़ें: जयराम कैबिनेट का बड़ा फैसला: सूबे के सरकारी कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले, नई ऊर्जा नीति भी मंजूरी

कांगड़ा जिले की जवाली तहसील के मोहल और मौजा पलौहरा में 0-76-79 हेक्टेयर भूमि को भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय के पक्ष में ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक के निर्माण के लिए 1 रुपए चार्ज करके मुफ्त में हस्तांतरित करने को भी अपनी मंजूरी दी। 

कांगड़ा जिले के शासकीय आईटीआई शाहपुर में ड्रोन फ्लाइंग ट्रेनिंग स्कूल की स्थापना के लिए सैद्धांतिक स्वीकृति भी प्रदान की और तकनीकी शिक्षा विभाग को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने के लिए इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी के साथ अनुबंध की शर्तों को अंतिम रूप देने के लिए अधिकृत किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ