हिमाचल को आपदा के दौर में मिला 'एम्‍स एक नायब तोहफा'- सबसे पहले वैक्सीनेशन टारगेट पूरा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल को आपदा के दौर में मिला 'एम्‍स एक नायब तोहफा'- सबसे पहले वैक्सीनेशन टारगेट पूरा


बिलासपुर।
कोरोना महामारी के इस दौर में हिमाचल प्रदेश के लोगों को एम्‍स बिलासपुर के रूप में एक नायब तोहफा मिला है। एम्‍स में ओपीडी शुरू होने के मौके पर केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया व भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा बारह बजे के करीब बिलासपुर के लुहणू मैदान पहुंच गए। 

यह भी पढ़ें: देवभूमि शर्मसार: छात्रा को क्वार्टर पर ले गया प्रोफ़ेसर, पीड़िता ने लगाए गंभीर आरोप

वहीं, एम्‍स के शुभारंभ के बाद केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने हिमाचल के कोविड वैक्‍सीनेशन के लक्ष्‍य को हासिल करने की घोषणा की। इस दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और सांसद जगत प्रकाश नड्डा ने प्रदेश में कोविड टीकाकरण में अहम भूमिका निभाने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित किया।

अनुराग बोले- यह मेरा लोक सभा क्षेत्र है

इस मौके पर कार्यक्रम स्थल पर मौजूद हिमाचल प्रदेश के सीएल जयराम ठाकुर व केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस सौगात के लिए पीएम मोदी का धन्‍यवाद किया। इस दौरान अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह मेरा लोक सभा क्षेत्र है। जेपी नड्डा जब पहले यहां आए तब 80 फीसदी लोगों का टीकाकरण का पूरा हुआ था। सभी का सहयोग नहीं मिलता तो छोटे से प्रदेश के लिए इतनी बड़ी उपलब्धि हासिल करना संभव नहीं था। आपदा के समय में सबसे पहले वैक्सीनेशन टारगेट पूरा किया गया। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: मेडिकल के दौरान पुलिस को चकमा देकर भागा रेप आरोपी अरेस्ट, एक केस और बढ़ा

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अनुराग ठाकुर ने आगे कहा कि देवभूमि हिमाचल ने पात्र नागरिकों को कोविड-19 वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने का लक्ष्य प्राप्त करके नया कीर्तिमान स्थापित किया है। यूपीए सरकार ने जो एम्स बनाने शुरू किए थे उन्हें मोदी सरकार पूरा कर रही है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: IMD ने जारी किया मौसम अलर्ट; छाए हैं बादल, होगी बारिश और बर्फ़बारी!

बता दें कि कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज में भी हिमाचल प्रदेश 100 फीसदी लक्ष्य हासिल करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। अब तक 53।86 लाख पात्र लोगों को दोनों डोज लगाई जा चुकी हैं जबकि 53।77 लाख का लक्ष्य था।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ