शिमला के इस स्कूल से जुड़ी हैं CDS बिपिन रावत की कई यादें, विजिटर बुक में लिखी थी ये बात

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

शिमला के इस स्कूल से जुड़ी हैं CDS बिपिन रावत की कई यादें, विजिटर बुक में लिखी थी ये बात


शिमला।
तमिलनाडु के नीलगिरी में भारतीय सेना का हेलीकॉप्टर बुधवार को क्रैश हो गया। इस हेलीकॉप्टर में सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत 14 लोग सवार थे। इस हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई है। जबकि सेना का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया है, जिसका इलाज सैन्य अस्पताल में किया जा रहा है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: विवाहिता का संदिग्ध परिस्थितियों में निधन, 3 बच्चों के सिर से उठा मां का साया

वायुसेना ने कहा कि दुर्घटना की 'कोर्ट ऑफ इंक्वायरी' के आदेश दे दिए गए हैं। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत का हिमाचल प्रदेश के शिमला से एक रिश्ता रहा है। बिपिन रावत 13 मई 2019 को शिमला आए थे। बिपिन रावत ने शिमला के सेंट एडवर्ड स्कूल का दौरा कर स्कूल में बिताए लम्हों को याद किया था। इसी स्कूल से उन्होंने कुछ साल पढ़ाई भी की है। 

यह भी पढ़ें: दुखद: नहीं रहे CDS बिपिन रावत, पत्नी समेत 13 लोगों का दुखद निधन- रक्षा मंत्री ने जताया दुःख

इस दौरान स्कूल के छात्रों ने बिपिन रावत से कई सवाल भी पूछे थे। उन्होंने छात्रों के सवालों का जवाब देने के साथ ही जीवन में सफलता पाने के लिए लगातार कड़ी मेहनत करने का मूल मंत्र भी दिया था।

देश सेवा का जज्बा है तो ज्वाइन करें सेना

इस दौरान जनरल बिपिन रावत ने एनसीसी विंग के छात्रों को कहा था कि देश सेवा का जज्बा हो तो सेना ज्वाइन करें। उनके संबोधन से पूरे स्कूल के छात्र प्रोत्साहित हुए थे। जनरल बिपिन रावत ने स्कूल की विजिटर बुक में लिखा था, एनसीसी कैडेट के जज्बे और जोश को देखकर काफी प्रभावित हुआ हूं। इनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं।

तीन दिन के दौरे पर गए थे जनरल बिपिन रावत शिमला

जनरल बिपिन रावत तब तीन दिवसीय आधिकारिक दौरे पर शिमला पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने सीटीओ से लेकर होटल क्लार्क तक माल रोड घूमने और शिमला के सुहाने मौसम का लुत्फ उठाया था। शिमला प्रवास के दौरान अग्रिम क्षेत्र में सुरक्षा के हालात जानने के लिए सैनिकों की तैनाती का भी उन्होंने जायजा लिया था। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल: किडनी की गंभीर बीमारी से पीड़ित युवा कारोबारी का दुखद निधन, पसरा मातम

इसके अलावा बिपिन रावत राज्यपाल और राज्य के उच्च पदाधिकारियों से भी मिले थे। सेनाध्यक्ष के साथ उनकी पत्नी और सेना परिवार कल्याण संगठन की अध्यक्षा मधुलिका रावत भी शिमला आई थीं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ