हिमाचल की फीमेल हेल्थ वर्कर संजोग नेगी को सलाम: 31 हजार को लगाया कोविड टीका

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल की फीमेल हेल्थ वर्कर संजोग नेगी को सलाम: 31 हजार को लगाया कोविड टीका


शिमलाः
पूरे देश में कोरोना वैक्सीनेशन के डबल डोज का 100 प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने वाला हिमाचल प्रदेश पहला राज्य बन गया है, जिसकी घोषणा स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडविया ने बिलासपुर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान की। बता दें कि इस लक्ष्य को हासिल करने में स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों ने काफी अहम योगदान दिया है। 

33 वर्षों की सेवा में अबतक नहीं मिला प्रमोशन 

कोरोना काल के दौरान दिन रात एक कर काम कर टीकाकरण अभियान को पूरा करने व गांव-गांव, घर-घर जाकर लोगों को जागरुक कर उन्हें टीका लगवाने के कार्य में जुट गए थे। इस सब के बीच राजधानी शिमला के स्वास्थ्य केंद्र मलयाणा में कार्यरत संजोग नेगी ने अकेले ही पूरे राज्य में करीबन 31 हजार लोगों को वैक्सीन लगाकर एक नया रिकॉर्ड कायम किया है। 

यह भी पढ़ें: हिमाचल सरकार अलर्ट: ओमिक्रॉन के खतरे के बीच 550 लोग पहुंचे विदेश से देवभूमि

कोरोना महामारी के दौरान पूरी मेहनत और लगन से अपना कार्य करने पर उन्हें बिलासपुर में आयोजित कार्यक्रम में बीजेपी चीफ जेपी नड्डा द्वारा पुरस्कृत किया गया। बीजेपी चीफ जेपी नड्डा के हाथों पुरस्कृत होने पर संजोग नेगी काफी खुश हैं। उनका कहना है कि 33 वर्षों से विभाग में सेवाएं देते हुए उन्हें आज तक कोई प्रोमोशन नहीं मिला है, परंतु यह पुरस्कार उनके जीवन में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। 

पुरस्कार पाने के क्षण को कभी नहीं भुला पाएंगी

उनका कहना है कि प्रदेश सरकार ने उनके द्वारा ईमानदारी व कर्तव्यनिष्ठा से किए कार्यों का तोहफा दिया है। पुरस्कार प्राप्त करने के दुर्लभ क्षण को वह कभी नहीं भुला पाएंगी, जब मंच पर हिमाचल प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री, दो केंद्रीय मंत्री सहित अनेक विभूतियां विराजमान थी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में गजब टोपीबाज आदमी: BMW पर लगा दिया स्कूटी का नंबर, 2.55 लाख की जालसाजी

संजोग नेगी ने बताया कि शिमला में कोविड संक्रमण का पहला मामला मलयाणा में प्रकाश में आया था और समूचे मलयाणा  क्षेत्र को कंटोनमेंट जोन घोषित किया गया था। उस दौरान उन्होंने दिन रात अपनी सेवाएं दी।  बताया कि कोविड-19 के संकटकाल में उनके द्वारा कोई भी अवकाश नहीं लिया गया। यहां तक बहन की मृत्यु होने पर भी वे ड्यूटी पर तैनात रही।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः ज्वैलर की दुकान में सेंधमारी करने वाली महिला काबू, पांच वारदातों की गुत्थी सुलझी

इस संबंध में जानकारी देते हुए बीएमओ मशोबरा डॉ राकेश प्रताप ने बताया कि संजोग नेगी एक बहुत कर्मठ एवं निष्ठावान कर्मचारी है। उन्होंने जिला शिमला  में सर्वाधिक 31 हजार कोविड टीका लगाकर विभाग व प्रदेश का नाम रोशन किया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ