CM जयराम भी चले केजरीवाल की राह: इतने यूनिट तक फ्री मिलेगी बिजली, नहीं आएगा बिल, जानें

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

CM जयराम भी चले केजरीवाल की राह: इतने यूनिट तक फ्री मिलेगी बिजली, नहीं आएगा बिल, जानें


शिमलाः
वक्त के साथ सबकुछ बदलता है और यह बात राजनीति करने की स्टाइल पर भी लागू होती है। देश की राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार का 'फ्री मॉडल' अब अन्य राज्यों में भी अपनाय जा रहा है। चुनाव नजदीक आते ही पंजाब और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में कुछ हद तक बिजली मुफ्त कर दी गई और मतदाताओं को लुभाने के लिए बिजली के दाम भी कम किए गए। 

अब इसी कड़ी में हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर भी केजरीवाल की राह पर चलते नजर आ रहे हैं। दरअसल, आज प्रदेश के 51वें राज्यत्व दिवस पर जयराम ठाकुर ने प्रदेशवासियों को खुशियों की सौगात देते कमजोर वर्ग के लोगों को मुफ्त बिजली देने का ऐलान किया है। इसके लिए कुछ नियम बनाएं गए हैं, जिसके तहत लोगों को बिजली बिल पहले की तुलना में काफी कम आएगा। इस सब से प्रदेश के करीब 11 लाख उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी।

जानें किस हिसाब से आएगा बिल- 

मिली जानकारी के मुताबिक अगर उपभोक्ता प्रतिमाह मात्र 60 यूनिट बिजली खर्च करते हैं तो उन्हें कोई बिजली बिल नहीं देना रहेगा। 

इसके अलावा जो उपभोक्ता 125 यूनिट बिजली खर्च करते हैं उन्हें अब एक रुपए 90 पैसे की जगह एक रुपए प्रति यूनिट की दर से भुगतान करना होगा।

जबकि, राज्य के किसानों के लिए प्रति यूनिट 50 पैसे की दर को घटाकर अब 30 पैसे प्रति यूनिट करने का ऐलान किया गया है।

बिजली विभाग ने दरें बढ़ाने के लिए भेजा ता प्रस्ताव-

जानकारियों की मानें तो बिजली बोर्ड की ओर से सरकार को बिजली दरें बढ़ाने को लेकर प्रस्ताव भेजा गया था। इसके तहत विभाग ने 270 करोड़ रुपए के घाटे का हवाला देते हुए बिजली दरों को दस फीसदी से 12 फीसदी तक बढ़ाने के लिए कहा गया था। परंतु आज मुख्यमंत्री सीएम जयराम के ऐलान के बाद अब देखना यह है कि प्रदेश में दरें बढ़ती हैं या कम होती हैं। 

पहले कैसे होता था आवंटन-

बता दें कि इससे पहले बिजली उपभोक्ताओं के लिए तीन स्लैब तय किए गए थे। इसके तहत ही उपभोक्ताओं को बिल का भुगतान करना पड़ता था।

बिजली इस्तेमाल      भुगतान

पहलाः 125 यूनिट प्रति -          1.90 पैसे

दूसराः 125 से 300 यूनिट -      3.95 रुपए 

तीसराः 500 यूनिट-                5 रुपए

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ