हिमाचल के अस्पताल में कोरोना विस्फोट: आधा दर्जन डॉक्टर बने मरीज, 30 स्टाफ भी चपेट में..

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल के अस्पताल में कोरोना विस्फोट: आधा दर्जन डॉक्टर बने मरीज, 30 स्टाफ भी चपेट में..


हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर अति गंभीर रूप धारण करती जा रही है। बीते कल जहां सूबे में कोरोना के मामले तीन गुना रफ्तार से बढ़ रहे हैं। प्रदेश में बीते 10 दिनों से ही मामलों में इजाफा हुआ है। 31 दिसंबर को एक्टिव मरीजों का आंकड़ा 466 था। अब इनकी संख्या पांच हजार से ज्यादा पहुंच गई है। 

5 जिलों में तेजी से फैल रहा कोरोना 

बुधवार को प्रदेश में 1598 लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं। इनके साथ ही प्रदेश में  कोरोना सक्रिय मामलों की संख्या 6937 पहुंच गई है। प्रदेश में मौत का आंकड़ा 3870 पहुंच गया है। जिला कांगड़ा, शिमला, मंडी, बिलासपुर और हमीरपुर में कोरोना मामलों में इजाफा हो रहा है। 

ऊना में इस हुए इस विस्फोट ने सबको डराया 

इस सब के बीच ऊना जिले के रीजनल अस्पताल में बड़ा कोरोना विस्फोट हुआ। यहां 6 चिकित्सकों और 30 पैरामेडिकल स्टाफ के एक ही दिन में संक्रमित पाए जाने के बाद हड़कंप की स्थिति बन गई है। 

कोविड-19 संक्रमण के बुरी तरह फैलने के चलते जिला में स्थिति भयावह होती जा रही है। हालत यह है कि लोगों की सेहत की संभाल करने वाला स्वास्थ्य विभाग इस वक्त कोविड-19 के संक्रमण की जकड़ में आ चुका है। क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में 3 दर्जन से अधिक चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ के कर्मचारी संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। जिला में सामने आए कोविड-19 के 146 नए मामलों में से 6 चिकित्सक और 30 पैरामेडिकल स्टाफ के कर्मचारी शामिल हैं। 

स्वास्थ्य विभाग ने कहा लोग बरत रहे लापरवाही 

स्वास्थ्य विभाग की मानें तो लोग कोरोना के प्रति लापरवाही बरत रहे हैं। मास्क न पहनने और भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने के कारण लोग संक्रमित हो रहे हैं। इधर, प्रदेश सरकार ने लोगों से कोरोना के नियमों का पालन करने और एहतियात बरतने को कहा है। 

चंबा, लाहौल स्पीति और किन्नौर में स्थिति सामान्य 

हिमाचल प्रदेश के अन्य जिलों की अपेक्षा चंबा, लाहौल-स्पीति और किन्नौर में कोरोना के मामले कम हैं। इन जिलों में प्रतिदिन 20 से कम लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। यह राहत की बात है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ