हिमाचल के शूरवीर: रणजीत सिंह को जन्मदिन की सौगात, सेना में मिला मेजर जनरल का रुतबा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल के शूरवीर: रणजीत सिंह को जन्मदिन की सौगात, सेना में मिला मेजर जनरल का रुतबा


हमीरपुरः
हिमचाल प्रदेश देवभूमि होने के साथ -साथ वीरभूमि भी है। यहां से हर साल हजारों की संख्या में युवा भारतीय सेना में भर्ती होते हैं और देश के प्रति अपने कर्तव्य को पूरी निष्ठा और लगन से निर्वहन कर अच्छे मुकांम तक पहुंचते हैं। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है हमीरपुर जिले के रहने वाले भारतीय सेना के जवान रणजीत सिंह ने। 

जन्म दिवस के दिन हुई पदोन्नति- बने मेजर जनरल

बताते चलें की एक फौजी की फैमिली में जन्म लेने वाले रणजीत सिंह बचपन से ही देश की सेवा करना चाहते थे। इसी के चलते वे भारतीय सेना में भर्ती हुए थे। उनके बेहतरीन प्रदर्शन हेतु उन्हें सेना में मेजर जनरल पद पर पदोन्नत किया गया। खुशी की बात तो ये है कि उन्हे ये प्रोमोशन उनके जन्म दिवस के दिन हुई है। 

1986 में हुए थे सेना में भर्ती,

उनकी इस उपलब्धि पर उनके परिवार व पूरे इलाके में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है। बता दें कि मेजर जनरल रणजीत सिंह का जन्म 27 जनवरी 1968 में हुआ था। वे सन् 1986 में एनडीए के 75 वें बैच में शामिल हुए थे। 

भारतीय सेना के दूत के तौर पर भी कर चुके हैं काम

उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा केंद्रीय विद्यालय योल, मुंबई, उधमपुर आदि विभिन्न स्थानों से की है क्योंकि उनके पिता भी सेना में थे इस वजह से उनकी पोस्टिंग के साथ उनके स्कूल भी बदलते रहते थे। मेजर. जनरल रणजीत सिंह अपनी सेवा के दौरान रूसी देशों में भारतीय सेना के दूत के रूप में भी कार्य कर चुके हैं।

दादा, पापा ,ताया भी सेना से हुए थे रिटायर

मिली जानकारी के मुताबाकि मेजर जनरल रणजीत सिंह के घर में उनके दादा ठाकुर मुंशी राम 1932 में ब्रिटिश सेना से हवलदार के रूप में सेवानिवृत्त हुए थे। इसके अलावा उनके पिता लेफ्टिनेंट कर्नल किशन चंद व ताया  कर्नल रामपाल सिंह भी भारतीय सेना से सेवानिवृत्त हुए थे। जबकि उनकी मां राधा रानी गृहिणी थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ