हिमाचल: सेना में जाने का सपना सजाए बैठा था 22 वर्षीय युवक, पीलिया ने छीनी जिंदगी

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: सेना में जाने का सपना सजाए बैठा था 22 वर्षीय युवक, पीलिया ने छीनी जिंदगी


ऊना।
हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले से एक दुखड़ा खबर सामने आई है। यहां स्थित गगरेट विधानसभा क्षेत्र के पिरथीपुर गांव निवासी एक 22 साल के युवक का निधन हो गया। बताया गया कि साहिल सपुत्र गुरदयाल सिंह को पीलिया हो गया था, जिससे उसका लीवर डैमेज हो चुका था और इसी के चलते उसकी जान चली गई। 

आर्मी की भर्ती में ग्राउंड टेस्ट में एक्सीलेंट हासिल किया था 

अपनी दस जमा दो की पढ़ाई पूरी करने के बाद 3 साल पहले साहिल ने आर्मी की भर्ती में ग्राउंड टेस्ट में एक्सीलेंट हासिल किया था और लिखित परीक्षा की तैयारी कर रहा था। इस सब के बीच ही सामने आई इस दुखड़ा खबर ने उसके सपने तो सपने जिंदगी को भी उजाड़ दिया। 

पिता ने इलाज में झोंक दी पूरी कमाई 

उसको होशियारपुर के निजी अस्पताल में भी इलाज के लिए ले जाया गया था। जहां मनरेगा में दिहाड़ी लगाकर जीवन गुजर बसर करने वाले एवं बीपीएल परिवार से सम्बंधित साहिल के पिता गुरदयाल सिंह ने अपनी जिंदगी की सारी कमाई अपने बेटे के इलाज में झोंक दी दी। 

लीवर ट्रांसप्लांट के लिए धन जुटा रहा था पिता, पर ..

बतौर रिपोर्ट्स, फिर भी आर्थिक तंगी कहीं न कहीं आड़े आती रही और उसे उचित मदद नहीं मिल पाई। इसके बाद हालत में सुधार ना होने पर उसे होशियारपुर से पीजीआई चंडीगढ़ इलाज के लिए ले जाया गया। जहां उसके लीवर की बेहद ही खराब स्थिति को देखते हुए डॉक्टर्स ने लीवर ट्रांसप्लांट करने और धन की व्यवस्था करने की बात कही। 

अभी साहिल के पिता जैसे तैसे धन की व्यवस्था कर ही रहे थे कि साहिल ने शुक्रवार देर शाम को दम तोड़ दिया और शनिवार को उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। उधर ग्राम पंचायत प्रधान विजय कुमार ने मामले की पुष्टि की है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ