हिमाचल: 51 विधायकों ने सुझाया खर्चे कम करो और 1000 करोड़ का लोन लेने जा रही सरकार

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: 51 विधायकों ने सुझाया खर्चे कम करो और 1000 करोड़ का लोन लेने जा रही सरकार


शिमला।
हिमाचल प्रदेश के ऊपर कर्ज का बोझ कितना बढ़ चुका है, इस बात से तो सभी वाकिफ हैं। इस सब के बीच सूबे पर एक बार फिर से कोरोना का बड़ा ख़तरा मंडराने लगा है। ऐसे में एक बार फिर सूबे की अर्थव्यवस्था पर चोट पड़ेगी इस बात का बड़ा अंदेशा है। 

विधायकों ने दी है आमदानी बढाने की सलाह 

वहीं, इस बीच खबर है कि नए साल के पहले ही माह में हिमाचल सरकार फिर से 1000 करोड़ रुपए का कर्ज लेने की तैयारी कर रही है। गौर करने वाली बात ये है कि यह कर्ज उस वक्त पर लिया जा रहा है जब दो दिन तक चली विधायक प्राथमिकता बैठकों में प्रदेश के 51 विधायकों ने सरकार को खर्चे घटाने के लिखित में सुझाव दिए हैं। विधायकों ने बैठकों में आमदनी बढ़ाने के टिप्स भी दिए हैं।

64,544 करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगा कुल कर्ज 

गौर रहे कि इस बार 1000 करोड़ का कर्ज लेने के बाद राज्य पर कर्ज का बोझ करीब 64,544 करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगा। इससे पहले राज्य सरकार ने बीते दिसम्बर माह माह में भी 1000 करोड़ रुपए और उससे पहले गत नवम्बर माह में 2000 करोड़ रुपए का कर्ज लिया था। 

कर्ज चुकाने के लिए लेना पड़ रहा कर्ज 

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार अपने कर्मचारियों को वेतन आयोग सिफारिशों का लाभ जनवरी माह से दे रही है, जिसकी अदायगी फरवरी माह में 28 फीसदी डीए के साथ की जानी है, ऐसे में वित्तीय संतुलन बिगड़ने के कारण सरकार को फिर कर्ज लेने के लिए बाध्य होना पड़ रहा है। कैग भी सरकार को बार-बार कर्ज लेने के लिए सरकार को लताड़ लगा चुकी है लेकिन वित्तीय अदायगियां बढ़ने से कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ