हिमाचल: पद्मश्री चरणजीत ने ली आखिरी सांस, कप्तान रहकर देश को दिलाया था ओलंपिक में गोल्ड

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: पद्मश्री चरणजीत ने ली आखिरी सांस, कप्तान रहकर देश को दिलाया था ओलंपिक में गोल्ड


ऊनाः
हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के रहने वाले पद्मश्री वीजेता व टोक्यो ओलिंपिक में स्वर्ण पदक विजेता चरणजीत सिंह का आज सुबह निधन हो गया। बताया जा रहा है कि वे काफी लंबे समय से अधरंग बिमारी से पीड़ित थे। उनके निधन के बाद खेल जगत सहित पूरे प्रदेश में गम की लहर दौड़ पड़ी है। बताया जा रहा है कि चरणजीत का अंतिम संस्कार आज शाम के समय ऊना जिले स्थित मोक्षधाम में किया जाना है। 

टोक्यो ओलिंपिक में देश को जिताया स्वर्ण पदक-

बता दें कि चरणचीत सिंह ने अपने जीवन काल में अपनी कड़ी मेहनत और लगन के चलते काफी पुस्तकार जीते हैं। उनके नेतृत्व में भारतीय हॉकी टीम ने 1964 में टोक्यो ओलिंपिक में स्वर्ण पदक जीता था। खेल क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन हेतु उन्हें अर्जुन अवार्ड सहित देश के सर्वोच्च पुरस्कारों में से एक पद्मश्री से भी नवाजा गया है। 

यह भा पढेंः हिमाचल: प्रशासन दे रहा था तिरंगे को सलामी और कांग्रेस MLA खा रहे थे VIP कमरे की हवा

HPU में शारीरिक शिक्षा विभाग में रहे निदेशक

चरणजीत सिंह का जन्म 3 फरवरी 1931 में ऊना जिले में हुआ था। उन्होंने राजधानी शिमला स्थित हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में शारीरिक शिक्षा के निदेशक पद पर भी अपनी सेवाएं दी हैं। उन्हें देश के प्रति उनके प्रेम व खेल क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए हमेशा याद किया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ