हिमाचलः बेसहारा पशु को बचाने में गिरे नीचे, जलशक्ति विभाग में अधिकारी का दुखद निधन

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचलः बेसहारा पशु को बचाने में गिरे नीचे, जलशक्ति विभाग में अधिकारी का दुखद निधन


ऊनाः
हिमाचल प्रदेश में आवारा पशु को बचाते हुए स्कूटी सवार एक 45 वर्षीय शख्स की मौत होने की खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि स्कूटी सवार जलशक्ति विभाग में अधिकारी के पद पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। हादसा प्रदेश के ऊना जिले स्थित ख्वाजा मंदिर के पास का है। 

डयूटी से लौट रहे थे घर

मृतक की पहचान 45 वर्षीय जतिंदर पुत्र केहर सिंह निवासी अप्पर बड़ेडा हरोली के तौर पर हुई है। मिली जानकारी के मुबातिक बीते कल यानी बुधवार देर रात उक्त अधिकारी डयूटी देकर वापस अपने घर लौट रहे थे। 

अचानक बेसहारा पशु आया सामने, खोया नियंत्रण

इस दौरान रास्ते में जब वे पुराना होशियारपुर मार्ग पर स्थित ख्वाजा मंदिर के समीप पहुंचे तो अचानक से एक बेसहारा पशु उनकी स्कूटी के आगे आ गया, जिसे बचाते हुए उन्होंने एक्टिवा पर से अपना नियंत्रण खो दिया और सड़क किनारे गिर गए। 

सिर में आई गंभीर चोट, राहगीर ने पहुंचाया अस्पताल 

गिरने के कारण उनके सिर पर गंभीर चोट पहुंची, जिस वजह से वे सड़क पर ही पड़े रहे। इस दौरान वहां से गुजर रहे किसी राहगीर ने जब उन्हें घायल अवस्था में देखा तो तुरंत आपातकालिन एंबुलेंस 108 को फोन कर उपचार हेतु क्षेत्रीय अस्पताल पुहंचाया। जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। 

वहीं, हादसे की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक शख्स के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। इसके साथ ही हादसे के संबंध में मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई अलम में लाई जा रही है। मृतक अपने पीछे पत्नी बेटा व बेटी छोड़ गए हैं.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ