हिमाचल: प्रशासन दे रहा था तिरंगे को सलामी और कांग्रेस MLA खा रहे थे VIP कमरे की हवा

Ticker

6/recent/ticker-posts

adv

हिमाचल: प्रशासन दे रहा था तिरंगे को सलामी और कांग्रेस MLA खा रहे थे VIP कमरे की हवा

 

सिरमौरः हिमाचल प्रदेश समेत पूरे देश में बीते कल गणतंत्र दिवस बहुत ही धूमधाम से मनाया गया। इस दौरान हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों में ध्वजारोहण कर झंडे को सलामी दी गई। इसी सब के बीच सिरमौर जिले के शिलाई उपमंडल में गणतंत्र दिवस के पर्व पर स्थानीय विधायक द्वारा राष्ट्रीय ध्वज को तिरस्कृत करने का मामला सामने आया है। इस संबंध में उनकी एक तस्वीर भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है।

यह भी पढ़ेंः राशिफल 27 जनवरी : तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ और मीन राशि के लोग जरूर पढ़ें

एक तरफ दी सलामी दूसरी ओर हुआ अपमान-

मिली जानकारी के मुताबिक पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस के मैदान में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष पर जहां एक तरह एसडीएम सुरेश कुमार सिंघा ने एसएचओ मस्त राम ठाकुर समेत कई जवानों के साथ मिलकर राष्ट्रीय झंडे को सलामी दी। वहीं, दूसरी ओर उस समय स्थानीय विधायक और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हर्ष वर्धन चौहान वीआईपी कमरे में बैठ कर पार्टी के नेताओं के साथ चर्चा कर रहे थे। 

लोगों ने किया ट्रोल, तो कई आए समर्थन में

इस संबंध में सोशल मीडिया पर विधायक हर्षवर्धन चौहान की एक तस्वीर भी वायरल हो रही है। ऐसे में लोगों द्वारा उन्हें राष्ट्रीय पर्व पर झंड़े का अपमान करने हेतु काफी ट्रोल किया जा रहा है। जबकि कुछ लोग इसे उपमंडल स्तर का प्रशासनिक कार्यक्रम बताकर उनका समर्थन कर रहे हैं।  हालांकि, ध्वजारोहण के बाद जैसे ही एसडीएम व एसएचओ को विधायक की मौजूदगी का पता चला तो वे कार्यक्रम के तुरंत बाद उनसे मिलने के लिए चले गए। 

यह भी पढ़ेंः राशिफल 27 जनवरी : मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह और कन्या राशि के लोग जरूर पढ़ें

क्या बोले विधायक हर्ष वर्धन-

इस घटना के बाद स्थानीय विधायक व प्रशासन के बीच तालमेल की कमी खुलकर सामने आई है। इस संबंध में जब स्थानीय विधायक से बातचीत की कई तो उन्होंने बताया कि उन्हें स्वयं भी कार्यक्रम के बारे में किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं थी। वैसे तो उपमंडल स्तरीय गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में नियमानुसार एसडीएम ही राष्ट्रीय ध्वज को फहराते है। मगर फिर भी अगर उन्हें मालूम होता तो वो भी तिरंग़े को सलामी देने ज़रूर पहुंच जाते।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ